Sunday, May 27,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
हरियाणा

युवा पीढ़ी को अक्षर ज्ञान के साथ-साथ संस्कारवान शिक्षा की जरूरत-कर्णदेव कांबोज

Publish Date: February 10 2018 08:25:46pm

इंद्री (उत्तम हिन्दू न्यूज): हरियाणा के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री कर्णदेव काम्बोज ने कहा कि युवा पीढ़ी को अक्षर ज्ञान के साथ-साथ संस्कारवान शिक्षा की जरूरत है। नई शिक्षा पद्धति से युवा पीढ़ी के जीवन में बदलाव आएगा। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हरियाणा सरकार ने नई शिक्षा पद्धति के तहत गीता को पाठ््यक्रम में शामिल करने का निर्णय लिया,लेकिन विपक्ष को यह बात हजम नहीं हुई और कहने लगे कि भाजपा सरकार ने शिक्षा का भगवाकरण किया है। मंत्री ने कहा कि अगर नई शिक्षा पद्धति से युवा पीढ़ी संस्कारवान बनती है तो हमारी सरकार शिक्षा का बार बार भगवाकरण करेगी। मंत्री काम्बोज शनिवार को इंद्री क्षेत्र के गांव कलरी जागीर में स्थित अमर ज्योति सीनियर सेकेंडरी स्कूल के वार्षिक समारोह में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। कार्यक्रम में पहुंचनें पर मंत्री महोदय का भव्य स्वागत किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत सरस्वती माता के चित्र के समक्ष दीप ज्योति कर की गई। इस मौके पर स्कूली बच्चों द्वारा मनमोहक प्रस्तुतियां दी गई जिसे उपस्थित सभी ने खूब सराहा। कार्यक्रम में देश भक्ति के गीतों को बेहतरीन तरीके से प्रस्तुत किया गया। छोटे छोटे बच्चों ने भी गीत व संगीत प्रस्तुत किया। मंच का संचालन स्कूली बच्चों द्वारा किया गया। इस मौके पर बोलते हुये मंत्री कर्णदेव कांबोज ने स्कूल मैनेजमैंट द्वारा बच्चों को सिखाई जा रही सांस्कारिक  गतिविधियों की सराहना की और कहा कि दूसरे स्कूलों को भी इनसे प्रेरणा लेनी चाहिए। मंत्री ने समारोह में बोलते हुए आगे कहा कि मानव जीवन में शिक्षा का बहुत महत्व है। शिक्षा के द्वारा ही व्यक्ति बड़ी से बड़ी सफलता को हासिल कर सकता है। शिक्षा पद्धति के कारण ही भारत को विश्वगुरू बनने का गौरव हासिल हुआ था,लेकिन लार्ड मैकले ने हिन्दुस्तान की शिक्षा पद्धति को नष्ट करने का काम किया और यहां के युवाओं को केवल अक्षर ज्ञान तक ही सीमित रखा,जिसका परिणाम यह हुआ कि युवा अपनी संस्कृति और संस्कारों से दूर हट गए और वे दिशाहीन हो गए। आज के समय में युवा पीढ़ी को अक्षर ज्ञान के साथ-साथ संस्कारों की भी जरूरत है,तभी समाज में बदलाव आ सकता है और सामाजिक कुरीतियां दूर हो सकती है। उन्होंने दावा किया कि अगर युवा पीढ़ी को संस्कारवान बनाया जाए और समाज में एक अच्छा वातावरण पैदा किया जाए तो फिर से भारत विश्वगुरू बन सकता है। मंत्री ने इस अवसर पर अव्वल विद्यार्थियों को पुरस्कार वितरित करके सम्मानित किया। कार्यक्रम में स्कूल के चेयरमैन प्रवीन काम्बोज ने कहा कि उनका स्कूल विद्या भारती द्वारा सम्पर्कृत विद्यालय है जिसमें बच्चों को  संस्कारवान शिक्षा दी जाती है। उन्होंने कहा कि समय समय पर स्कूल में किताबी शिक्षा के ज्ञान के अतिरिक्त ऐसे सांसकृतिक  कार्यक्रमों का आयोजन होता रहता है जिसमें बच्चें बढ़ चढ़ कर भाग लेते है। उन्होंने कहा कि इससे बच्चों का सर्वांगीण विकास होता है। इस मौके पर मंत्री महोदय व विशेष रूप से उपस्थित किसान संघ के संगठन मंत्री सुरेन्द्र जी ने कक्षाओं में अव्वल रहने वाले बच्चों तथा अन्य क्षेत्रों में अच्छा प्रदर्शन करने वाले लोगों को पुरस्कृत किया। इस अवसर पर सोम प्रकाश,रिंकू काम्बोज,राजेश काम्बोज,बलजीत नम्बरदार,श्यामलाल सैनी,राजेन्द्र मिड्ढा के अलावा विद्यार्थी एवं काफी संख्या में बच्चों के अभिभावकगण मौजूद रहे। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9814266688 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


IPL-11: हाई-वोल्टेज फाइनल मुकाबले में आज भिड़ेंगे चेन्नई-हैदराबाद

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): चेन्नई सुपर किंग्स और सनराइजर्स ह...

इस हाल में हुई पाकीजा की हीरोइन की मौत

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : फिल्म पाकीजा से सुर्खियां बटोरने...

top