Wednesday, May 23,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
हिमाचल प्रदेश

2018-19 के लिए राज्य योजना का आकार 6300 करोड़ प्रस्तावित

Publish Date: February 13 2018 11:41:27am

शिमला (जेमी शर्मा): वित्त वर्ष 2018-19 के लिए राज्य योजना का आकार 6300 करोड़ रुपये प्रस्तावित किया गया है, जो पिछले वर्ष के मुकाबले 10.51 प्रतिशत फीसदी की बढ़ौतरी के साथ 600 करोड़ रुपये अधिक है। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने  यहां पूर्वाहन सत्र में सोलन, सिरमौर तथा शिमला के विधायकों के साथ विधायक प्राथमिकताओं के लिये आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह घोषणा की। इस दौरान सोलन, सिरमौर और शिमला के विधायकों ने अपने अपने  क्षेत्रों से संबंधित मांगे रखीं। बैठक दौरान मुख्यमंत्री ने ग्रामीण अधोसंरचना विकास निधि के माध्यम से नाबार्ड के अन्तर्गत विधायक प्राथमिकताओं के कार्यों के कार्यान्वयन के लिए धनराशि की सीमा में वृद्धि की भी घोषणा की। विधायक अब लोक निर्माण तथा सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभागों से सम्बन्धित अपने चुनाव क्षेत्र की 90 करोड़ रुपये तक की विभिन्न विकास योजनाओं को नाबार्ड को प्रेषित कर सकते हैं। इससे पूर्व यह सीमा 80 करोड़ रुपये की थी। मुख्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में बिलासपुर जिले के कोठीपुरा में प्रस्तावित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के लिए 1351 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत करने के लिए केन्द्र सरकार का आभार व्यक्त किया। उन्होंने लगभग 450 करोड़ रुपये की लागत से ऊना में पीजीआई उपग्रह केन्द्र के लिए भी केन्द्र सरकार का आभार जताया। ऊना में 300 बिस्तरों का यह पीजीआई उपग्रह केन्द्र हिमाचल प्रदेश के मरीजों को उनके घरद्वार के समीप चिकित्सा सुविधा प्रदान करने में मददगार साबित होगा और गुणात्त्मक चिकित्सा सुविधाएं प्रदान कर प्रदेश से पीजीआई के लिये मरीजों की भीड़ को कम करेगा।  

प्रक्रिया इस वर्ष 31 मार्च तक पूरी कर ली जाएगी।  मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार विकास कार्यों, विशेषकर सड़क परियोजनाओं  के लिए वन संरक्षण अधिनियम के अन्तर्गत दी जाने वाली स्वीकृति की शक्तियों को मौजूदा एक हैक्टेयर से पांच हैक्टेयर तक बढ़ाने के लिए मामला केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय से उठाएगी । मुख्यमंत्री ने राज्य में हवाई कनेक्टिविटी तथा सड़क नेटवर्क को बढ़ावा देने पर बल दिया और प्रधानमंत्री द्वारा क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना चरण-1 व चरण-2 'उड़े देश का आम नागरिक उड़ान का भी जिक्र किया। उन्होंने शिक्षा में गुणात्त्मक सुधार तथा रोजग़ार व स्वरोजग़ार के और अधिक अवसर सृजित करने के उपायों,जैविक प्राकृतिक खेती की आवश्यकता पर बल दिया । मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार राज्य के लोगों को स्वच्छ, प्रभावी, पारदर्शी और उत्तरदायी शासन प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है तथा सूचना प्रौद्योगिकी व ई-गवर्नेस को अतिरिक्त प्राथमिकता प्रदान करेगी ताकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 'न्यूनतम सरकार और अधिकतम शासन को साकार बनाया जा सके।मुख्यमंत्री ने सभी विभागों को विधायक प्राथमिकताओं के कार्यों को पूरा करने तथा इनमें से अधिकतर कार्यों को केन्द्रीय प्रायोजित योजनाओं के तहत स्वीकृत करवाने तथा विधायकों के सुझावों को आमंत्रित करने के निर्देश दिए। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9814266688 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।


विश्व कप की तैयारी के लिए अर्जेटीना पहुंचे मेसी

ब्यूनस आयर्स(उत्तम हिन्दू न्यूज): बार्सिलोना के स्टार खिलाड़ी...

जीवन के हर रिश्ते को महत्व देती हैं करीना कपूर

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : अभिनेत्री करीना कपूर खान का कहना...

top