Monday, December 17,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
अंतर्राष्ट्रीय

माल्या का दावाः भारत छोड़ने से पहले वित्त मंत्री से मिला था, जेटली ने भी बताई सारी कहानी

Publish Date: September 12 2018 06:54:51pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : भारत के भगोड़े कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण को लेकर बुधवार को ब्रिटेन की एक अदालत में सुनवाई हुई। इस दौरान उन्होंने एक ऐसा बयान दिया है जो किसी धमाके से कम नहीं है। माल्या ने कहा कि वह भारत छोड़ने से पहले देश के वित्त मंत्री से मिलकर आए थे। माल्या ने कहा, 'मैं मामला निपटाने को लेकर जेटली से मिला था। मैं बैंकों का बकाया कर्ज चुकाने के लिए तैयार था, लेकिन बैंकों ने मेरे सेटलमेंट को लेकर सवाल खड़े किए। मुझे बलि का बकड़ा बनाया गया।' खास बात ये है कि जिस समय माल्या देश छोड़कर गए, उस समय अरुण जेटली वित्त मंत्री थे।

जेटली का बयान
वहीं दूसरी ओर देश के वित्त मंत्री अरुण जेटली ने माल्या से मुलाकात के बारे में मीडिया के सामने सफाई देते हुए कहा कि मेरी ओर से उन्हें मुलाकात के लिए वक्त नहीं दिया गया। हालांकि संसद परिसर में उन्होंने मुझसे बात कर मामले को सुलझाना का ऑफर दिया था। माल्या ने सांसद होने के विशेषाधिकार का गलत इस्तेमाल किया था। जेटली ने कहा कि मैंने उनके ऑफर को ठुकराते हुए कहा कि इस बारे में कोई बातचीत नहीं हो सकती और मैंने उनसे कोई भी दस्तावेज नहीं लिए, जो वह अपने साथ लेकर आए थे। इसके साथ ही जेटली ने ये भी कहा कि मैने माल्या को अपनी सफाई देने के लिए बैंकों के पास जाने की सलाह दी थी।

अदालत में सुनवाई खत्म होने के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान माल्या ने कहा कि वह वित्त मंत्री से मुलाकात के बारे में विस्तार से जानकारी नहीं दे सकते हैं। बातचीत के दौरान माल्या ने कहा कि वह कोर्ट में दिखाए गए जेल के विडियो को देखकर प्रभावित हैं। माल्या ने कहा कि अपने बकाए को सैटल करने के लिए उन्होंने बैंकों को कई बार पत्र लिखे थे, लेकिन बैंकों ने उनके पत्रों पर सवाल खड़े किए थे। माल्या ने कहा कि निश्चित तौर पर उन पर जो आरोप लगाए गए हैं, वह उनसे सहमत नहीं हैं। इसके अलावा इस बारे में कोर्ट ही अंतिम फैसला लेगी। 

वहीं दूसरी ओर लंदन स्थित वेस्टमिंस्टर कोर्ट में सुनवाई के दौरान भारतीय अधिकारियों ने मुंबई की आर्थर रोड जेल में माल्या को रखने के लिए तैयार सेल का विडियो पेश किया।गौरतलब है कि कोर्ट के समक्ष माल्या ने कहा था कि भारतीय जेलों की हालत बेहद खराब है, इसलिए उन्हें भारत को न सौंपा जाए। प्रत्यर्पण से बचने के लिए माल्या की इस दलील के बाद ब्रिटिश कोर्ट ने भारतीय अधिकारियों से जेल का विडियो पेश करने को कहा था। इसी कड़ी में मुंबई की आर्थर रोड जेल की 12 नंबर बैरक को जेल प्रशासन ने इस तरह से सवारा है कि देश तो क्या दुनिया के लोग उसकी सफाई और व्यवस्था देखकर हैरान रह जाएंगे। ये अलग बात है कि् इसे माल्या की ओर से लंदन में भारत की जेलों की हालत खराब होने के तर्क की काट के तौर पर देखा जा रहा है। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


Aus vs Ind: विराट कोहली ने रचा इतिहास, 25वां टेस्ट शतक जड़ तेंदुलकर को पीछे छोड़ा

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय कप्तान विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 25 शतक बना...

#MeToo की चिंगारी भड़काने वाली तनुश्री लौटेंगी अमेरिका, अपने बारे में किया बड़ा खुलासा 

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : भारत में मीटू की चिंगारी भड़काने...

top