Monday, December 10,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

त्रिपुरा में वामपंथी शासन हुआ अस्त, फिज़ां में घुली केसरिया लहर

Publish Date: March 09 2018 07:01:46pm

अगरतला (उत्तम हिन्दू न्यूज): त्रिपुरा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष बिप्लब देब ने आज राज्य के ११वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथग्रहण की, वामपंथ के इस सबसे मज़बूत गढ़ में ढाई दशक पुराने माक्र्सवादी शासन का पटाक्षेप होने के बाद त्रिपुरा में आज से भगवा युग का आरंभ हो गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अगरतला के असम राइफल्स के परेड ग्राउंड पर आयोजित शपथग्रहण समारोह में राज्य में नये युग के आगाज़ का ऐलान करते हुए कहा, "आज त्रिपुरा में फिर से दीवाली आयी है। यहां विकास का नया बीज पड़ा है और नयी उमंग, नया उत्साह एवं नया विश्वास पैदा हुआ है।" मोदी ने वामपंथ बनाम दक्षिणपंथ के बीच देश में हुए पहले चुनावी मुकाबले की महत्ता को रेखांकित करते हुए कहा कि देश में ऐसे बहुत कम चुनाव होते हैं जिन्हें इतिहास में लंबे समय तक याद किया जाता है। त्रिपुरा का चुनाव भी उन ऐतिहासिक चुनावों में सिरमौर होगा और आने वाले अनेक वर्षों तक विद्वान लोग इस चुनाव की अलग अलग व्याख्या करके नये नये निष्कर्ष निकालेंगे। 

उन्होंने कहा कि पहली बार ऐसा हुआ है जब पूर्वोत्तर के चुनावों को लेकर देशभर में नयी तरह की उत्सुकता थी। लोगों को पूर्वोत्तर से खासा लगाव अनुभव हो रहा है और चार साल के दौरान उनकी सरकार ने भी पूर्वोत्तर भावनात्मक रूप से देश के बाकी भाग से जोडऩे को लेकर काम किया। पूर्वोत्तर के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को रेखांकित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद से २०१४ तक प्रधानमंत्री जितने बार पूर्वोत्तर आये होंगे उससे अधिक बार वह स्वयं आये हैं। उन्होंने कहा, "मैं २५ बार से पूर्वोत्तर में आया हूं।" प्रधानमंत्री ने स्थानीय जनजातियों की कोरबरोक भाषा में सबका अभिनंदन किया और कहा कि हमारी नई सरकार के नए चेहरे त्रिपुरा को नई ऊंचाइयों पर लेकर जाएंगे। उन्होंने कहा, "यह सरकार उनकी है जिन्होंने वोट दिया और उनकी भी है जिन्होंने वोट नहीं दिया।" उन्होंने कहा कि चुनाव समाप्त हो गये हैं। त्रिपुरा के हर नागरिक की समस्या को हल करना हमारा सामूहिक दायित्व है। मोदी ने त्रिपुरा की जनता को विश्वास दिलाया कि उनके सपनों, आशाओं एवं आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए वह उतनी ही ताकत लगाएंगे जितनी त्रिपुरा की जनता और सरकार लगा रही है। उन्होंने कहा कि त्रिपुरा को मॉडल राज्य बनाने के लिए केन्द्र सरकार हरसंभव मदद देगी। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की प्राथमिकता विकास और सुशासन है। 

उन्होंने युवा मुख्यमंत्री श्री देब एवं उनके मंत्रिमंडल के युवा साथियों के जोश, उत्साह एवं उमंगों की सराहना करते हुए विपक्ष में आयी माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) से भी सहयोग की अपील की और कहा कि विपक्ष में चुन कर आये लोगों का सेवा में अनुभव बहुत लंबा है जबकि नयी सरकार की नयी टीम उम्र में छोटी है। अगर विपक्ष का अनुभव और सत्तापक्ष का उत्साह, उमंग दोनों शक्तियां मिल जायें तो त्रिपुरा देखते ही देखते कहां से कहां पहुंच सकता है। उन्होंने कहा कि नयी टीम के साथ वह कंधे से कंधा मिला कर काम करेंगे और राज्य के लोगों के सपने साकार करेंगे। इससे पहले शाह ने अपने भाषण में कहा कि पहले की सरकारों के समय पूर्वोत्तर के विकास के लिए धन आवंटित होता था लेकिन विकास में नहीं बदल पाता था लेकिन २०१४ के बाद से मोदी सरकार ने इस क्षेत्र को देश के निकट लाने और विकास को धरातल पर उतारने के लिए कई कदम उठाये हैं।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


एडिलेड टेस्ट : एडिलेड में 15 साल बाद जीत के करीब पहुंचा भारत

एडिलेड (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय गेंदबाजों रविचंद्रन अश्वि...

'गोपी बहू' गिरफ्तार, हीरा व्यापारी की हत्या में शामिल होने का आरोप 

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : एक हीरा व्यापारी की हत्‍या के सि...

top