Monday, December 17,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

14 में से 12 राज्यों ने किया फांसी का समर्थन, कर्नाटक और त्रिपुरा ने किया विरोध 

Publish Date: March 12 2018 04:27:07pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : करीब 85 फीसदी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने मौत की सजा को बरकरार रखने का समर्थन किया है, जबकि दो राज्य इसका विरोध कर रहे हैं। आपको बता दें कि कर्नाटक और त्रिपुरा भारतीय संघ के ऐसे राज्य हैं जिसने सजा-ए-मौत यानी फांसी की सजा का विरोध किया है। असल में, गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर इस पर राय मांगी थी कि क्या मौत की सजा को खत्म कर दिया जाए लेकिन अभी तक सिर्फ 14 राज्यों का जवाब मिल पाया है, जिसमें से 12 ने फांसी की सजा को बरकरार रखने का समर्थन किया है।

इस सजा के विरोध में कर्नाटक और त्रिपुरा ने अपना मंतव्य प्रस्तुत किया है। खबर के अनुसार, फांसी की सजा का समर्थन करने वाले 12 राज्यों का तर्क है कि हत्या और बलात्कार जैसे गंभीर अपराधों के मामले में इस सजा की वजह से थोड़ा डर कायम होता है। जस्ट‍िस एपी शाह की अध्यक्षता में लॉ कमीशन ने साल 2015 की अपनी रिपोर्ट में यह प्रस्ताव रखा था कि गैर आतंकवाद वाले सभी मामलों में फांसी की सजा को खत्म कर देना चाहिए।

इसके बाद गृह मंत्रालय ने राज्य सरकारों की राय मांगी थी। फांसी की सजा को खत्म करने का विरोध करने वाले राज्यों में गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, बिहार, झारखंड, तमिलनाडु और दिल्ली शामिल हैं। अभी उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र जैसे बड़े राज्यों ने भी अपनी राय नहीं भेजी है। त्रिपुरा में सरकार बदल गई है, इसलिए हो सकता है कि वहां से भी अब नई राय सामने आए।

लॉ कमीशन की रिपोर्ट के अनुसार भारत फांसी की सजा देने वाले चंद देशों में शामिल है। इन देशों में चीन, ईरान, इराक, सऊदी अरब जैसे देश शामिल हैं। साल 2014 के अंत तक 98 देशों ने फांसी की सजा खत्म कर दी। सात देशों ने साधारण अपराधों के लिए और 35 अन्य ने व्यवहार में इसे खत्म कर दिया है। इस तरह अब 140 देशों में कानून या व्यवहार के स्तर पर फांसी की सजा खत्म हो चुकी है। सूरीनाम, मेडागास्कर और फिजी में साल 2015 में फांसी की सजा खत्म कर दी गई।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


मां नयनादेवी के दरबार में पहुंचीं रवीना टंडन  

शिमला (उत्तम हिन्दू न्यूज): मशहूर बॉलीवुड अभिनेत्री रवीना टंडन आज मां नयनादेवी के दर्शनों ...

top