Wednesday, December 12,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

मोदी को घेरने की रणनीति के तहत सोनिया गांधी के डिनर में पहुंचे विपक्षी नेता

Publish Date: March 13 2018 08:24:31pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विजय रथ को रोकने के लिए विपक्ष, एकजुटता की रणनीति बना रहा है। राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष पद सौंपने के बाद संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) चेयरपर्सन सोनिया गांधी गठबंधन को मजबूत करने में जुटी हुई हैं। इसी रणनीति के तहत मंगलवार को उन्होंने कई विपक्षी पार्टियों के नेताओं को डिनर पर आमंत्रित किया।

डिनर में शामिल होने के लिए मीसा भारती, तेजस्वी यादव, बदरुद्दीन अजमल पहुंच चुके हैं। कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद भी डिनर में शामिल होने पहुंचे हैं। इस डिनर पर सीपीआई नेता डी राजा ने कहा कि उन्हें पता चला है कि इसमें और कुछ पार्टियां शामिल हो रही हैं, हालांकि उन्हें यह नहीं पता कि यह डिनर क्यों आयोजित की गई है। उन्होंने संभावना जताई कि अभी नहीं, लेकिन भविष्य में गठबंधन बन सकता है।

सूत्रों से मिल रही खबर में बताया गया है कि इस डिनर में 2019 लोकसभा चुनाव के लिए रणनीति पर विचार हो सकता है। इस डिनर में करीब 17 विपक्षी पार्टियों के नेताओं के शामिल होने की संभावना है। हालांकि, इन पार्टियों के अलावा भी कई चेहरे ऐसे हैं जिनपर सभी की नजऱ है। इनमें बाबूलाल मरांडी और जीतन राम मांझी का नाम भी शामिल है। दोनों मंगलवार शाम को सोनिया के डिनर में शामिल हो सकते हैं। 

कांग्रेस के सूत्रों की मानें तो इस डिनर के लिए कांग्रेस, सपा, बीएसपी, टीएमसी, सीपीएम, सीपीआई, डीएमके, जेएमएम, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, आरजेडी, जेडीएस, केरल काँग्रेस, इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग, आरएसपी, एनसीपी, नेशनल कांफ्रेंस, एआईयूडीएफ, आरएलडी के नेताओं को न्यैता भेजा गया है। ऐसा बतया गया है कि कई पार्टियां इस डिनर में अपने प्रतिनिधियों को भी भेज सकती है। एनसीपी प्रमुख शरद पवार के शामिल होने पर लगातार संशय बरकरार है। दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी इस डिनर में शामिल नहीं होंगी, हालांकि उनकी पार्टी की तरफ से प्रतिनिधि जरूर हिस्सा लेंगे।

दरअसल, शरद पवार ने खुद विपक्षी पार्टियों के लिए डिनर आयोजित किया है, इसलिए उनके शामिल होने पर संशय बरकरार है। शरद पवार ने कांग्रेस को भी अपने डिनर के लिए निमंत्रण भेजा है। शरद पवार टीआरएस को भी डिनर में शामिल होने के लिए बुलावा है। साफ है कि इस डिनर डिप्लोमेसी के जरिये सोनिया एक तीर से दो निशाना साधना चाहती हैं। विपक्षी नेताओं को डिनर पर बुलाकर वह ये साबित करना चाहती हैं कि मोदी के विकल्प के तौर पर बनने वाले गठजोड़ का नेतृत्व कांग्रेस के पास ही होगा। हालांकि फिलहाल इसकी संभावना कम दिख रही है। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


आईसीसी टेस्ट रैंकिंग : विराट कोहली शीर्ष पर बरकरार, पुजारा चौथे नंबर पर

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): आस्ट्रेलियाई जमीन पर अपनी अगु...

कल प्रेमिका गिन्नी के साथ शादी रचाएंगे कपिल शर्मा, सामने आई प्री-वेडिंग की तस्वीरें

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): हास्य अभिनेता-निर्माता कपिल शर्मा कल यानी 12 दिसंबर को अपनी प्...

top