Thursday, December 13,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

मोदी सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव की योजना, टीडीपी ने बुलाई पोलित ब्यूरो की बैठक 

Publish Date: March 15 2018 06:49:52pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : संसद में मोदी सरकार के खिलाफ पहला अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी चल रही है। लिहाजा आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने पर अड़ी तेलगू देशम पार्टी (टीडीपी), वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के साथ मिलकर सरकार के खिलाफ पहला अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए गोलबंदी शुरू की है। लोकसभा सूत्रों से प्रप्त खबर में बताया गया है कि वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के 6 सांसदों ने शुक्रवार के लिए लोकसभा महासचिव को प्रस्ताव का नोटिस दिया है। इस अभियान को तेज करने के लिए इधर टीडीपी ने शुक्रवार को अपने पॉलित ब्यूरो की बैठक बुलाई है। 

वैसे वीरवार को टीडीपी के अध्यक्ष एवं आंध्र पदेश के मुख्यमंत्री एन चन्द्रबाबू नायडु ने मोदी सरकार पर जबरदस्त हमला बोला और आंध्र विधानसभा में कहा कि हम सत्ता लोलुप नहीं हैं। एनडीए-1 का हिस्सा रहते हुए मुझे बहुत सम्मान प्रप्त हुआ और वाजपेयी जी ने टीडीपी को 6 मंत्रालयों की पेशकश की थी लेकिन हमने इसे नहीं लिया। वाजपेयी जी के शासनकाल के दौरान, वह हमारे सुझावों को बेहद गंभीरता से लेते थे। स्वर्ण चतुर्भुज परियोजना हमारी चचार्ओं और योजनाओं का ही प्रतिफल है। राज्य विधानसभा में एपी सीएम चंद्रबाबू नायडू। 

जगन मोहन रेड्डी की पार्टी इसके लिए अन्य विपक्षी दलों से समर्थन भी जुटा रही है। पार्टी के सांसद जगन की ओर से लिखे गए एक पत्र को संसद के भीतर विपक्षी सांसदों के बीच बांट रहे हैं और उनसे इस प्रस्ताव का समर्थन करने की अपील कर रहे हैं। सदन में इस प्रस्ताव को पेश करने के लिए कम से कम 50 सांसदों का समर्थन जरूरी होगा जो फिलहाल उनके पास नहीं है लेकिन वे अपने प्रयास में लगे हैं।

सांसदों का समर्थन हासिल करने के लिए लिखे गए जगन मोहन के पत्र में कहा गया है कि इस प्रस्ताव के बाद भी केंद्र सरकार आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा देने को तैयार नहीं होती है तो पार्टी के सभी सांसद 6 अप्रैल को अपना इस्तीफा दे देंगे। वाईएसआर कांग्रेस के पास लोकसभा में 9 सांसद है जबकि राज्यसभा में एक सांसद है। आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग टीडीपी लगातार कर रही है। ऐसे में वाईएसआर कांग्रेस ने टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू से भी प्रस्ताव का समर्थन करने की मांग की है। इसी मुद्दे पर चर्चा के लिए नायडू की ओर से हैदराबाद में एक बैठक भी की गई है. आंध्र की ही पार्टी टीएसआर भी राज्य के लिए विशेष दर्जे की मांग कर रही है।

सूत्रों की मानें तो लोकसभा में शुक्रवार को यह प्रस्ताव पेश किया जा सकता है। वाईएसआर कांग्रेस के सांसदों ने कांग्रेस पार्टी के नेता मल्लिकार्जुन खडग़े, टीएमसी नेता सौगत राय, बीजेडी भृतहरी महताब, टीडीपी नेता तोटा नरसिम्हा, सीपीएम नेता सीताराम येचुरी, एनसीपी नेता तारिक अनवर, आम आदमी पार्टी के नेता भगवंत मान समेत कई नेताओं से अविश्वास प्रस्ताव को समर्थन देने की अपील की है।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


IND vs AUS: पर्थ टेस्ट के लिए 13 सदस्यीय भारतीय टीम का ऐलान, अश्विन और रोहित बाहर

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत के स्टार ऑफ स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन और बल्लेबाज रोह...

शादी के बंधन में बंधे ईशा अंबानी और आनंद पीरामल, देखें तस्वीरें

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): जाने माने बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी ने आनं...

top