Wednesday, December 19,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

कांग्रेस के सांसद ने राष्ट्र गान में संशोधन को लेकर राज्यसभा में रखा एकल प्रस्ताव 

Publish Date: March 16 2018 04:06:08pm

नयी दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : शुक्रवार को राज्यसभा में कांग्रेस के सांसद रिपुन बोरा ने राष्ट्र गान में संशोधन का एकल प्रस्ताव रखा। उन्होंने कहा कि हमारे राष्ट्र गान में एक ऐसे प्रांत का उल्लेख है जो सन् 1947 में बंटकर पाकिस्तान का हिस्सा बन गया लेकिन पूर्वोत्तर का उल्लेख नहीं है जो भारत का अभिन्न अंग है। बोरा ने राष्ट्र गान को संशोधित कर उसमें पूर्वोत्तर जोडऩे की मांग का एक प्रस्ताव राज्यसभा में रखा। 

आपको बता दूं कि इसी प्रकार का एक प्रस्ताव 2016 में शिवसैना के सांसद अरविंद सावंत ने भी उठाई थी। कांग्रेस सांसद ने कहा है कि सिंध की जगह पूर्वोत्तर शब्द को राष्ट्रगान में सम्मिलित किया जाना चाहिए जो भारत के पूर्वोत्तर इलाके में स्थित राज्यों का उल्लेख करेगा। उन्होंने यह भी लिखा है कि नॉर्थईस्ट भारत का अभिन्न अंग है लेकिन राष्ट्रगान में इस राज्य का कोई जिक्र नहीं है। 

इससे पहले इसी तरह की मांग माचज़् 2016 में शिवसेना के सांसद अरविंद सावंत ने उठाई थी, जिन्होंने 'सिंधÓ शब्द को राष्ट्रगान से हटाने की मांग की थी, क्योंकि अब प्रांत पाकिस्तान का हिस्सा है। 1911 में नोबेल पुरस्कार विजेता रबींद्रनाथ टैगोर ने राष्ट्रीय गान जन गण मन लिखा था, जब भारतीय क्षेत्र पश्चिम में बलूचिस्तान से लेकर पूर्व तक सिलहट तक फैला था। हालांकि, बंटवारे के बाद, सिंध, बलूचिस्तान, खैबर-पख्तूनख्वा और पंजाब का बड़ा हिस्सा पाकिस्तान में चला गया। वहीं सिलहट, ढाका और बंगाल के भाग को को पूर्वी पाकिस्तान का हिस्सा बना दिया गया था। यह हिस्सा 1971 में बांग्लादेश के नाम से नया देश बन गया। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


इस फुटबाल क्लब ने अपनी टीम और कोच को गिफ्ट में दी नई कारें

मेड्रिड (उत्तम हिन्दू न्यूज): स्पेन के फुटबाल क्लब एटलेटिको म...

नहीं रहे मराठी फिल्म निर्देशक यशवंत भालकर, 61 वर्ष में हुआ निधन 

कोल्हापुर (उत्तम हिन्दू न्यूज): मराठी फिल्मों के प्रसिद्ध निर...

top