Tuesday, December 18,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

पंजाब में दूसरा फ्रंट खोलने की फिराक में पाकिस्तान, आतंकवाद के लिए सिख युवाओं को कर रहा ट्रेंड

Publish Date: March 21 2018 05:16:06pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : जम्मू-कश्मीर से भारतीय सुरक्षा बल का ध्यान हटाने के लिए पाकिस्तान पंजाब में नया फ्रंट खोलने के फिराक में है। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेस इंटेलिजेंस (आईएसआई) सिख युवाओं को भारत में हमला करने के लिए ट्रेंड कर रही है। गृह मंत्रालय ने सोमवार को संसदीय पैनल को बताया कि आईएसआई के ठिकानों पर इन युवाओं को ट्रेंड किया जा रहा है, ताकि वे भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम दे सकें। यही नहीं, कनाडा और अन्य जगहों पर बसे हुए सिख युवाओं को भी भारत के खिलाफ भड़काया जा रहा है।

केंद्रीय गृह सचिव के नेतृत्व में गृह मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों ने आकलन कमिटी को बताया कि इंटरनेट और सोशल मीडिया के का गलत तरीके से इस्तेमाल कर आतंकी संगठन युवाओं को भड़का रहे हैं, उन्हें और कट्टर बना रहे हैं। यह स्थिति सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती बनकर उभरी है। सोमवार को संसद में पेश की गई कमिटी की रिपोर्ट में इस बात पर जोर दिया गया कि सिख आतंकवाद को लेकर काफी हलचल देखने को मिल रही है और फिर से सिख आतंकवाद को जीवित करने की कोशिशें की जा रही हैं। 

रिपोर्ट के कहा गया है कि पाकिस्तान के आतंकी संगठनों के ऊपर आईएसआई से दबाव है कि वे न सिर्फ पंजाब में ही नहीं बल्कि भारत के अन्य हिस्सों में आतंक फैलाएं और उसके आतंकी इरादों को अंजाम दें। इसके लिए पाकिस्तान के सिख आतंकी संगठन कैदियों, बेरोजगारों, क्रिमिनल यहां तक कि तस्करों को आतंकी हमले करने के लिए तैयार कर रहा है। कमिटी की रिपोर्ट के अनुसार, इन गतिविधियों पर केंद्र और राज्य की सुरक्षा एजेंसियां नजर रखे हुए हैं और जब भी जरूरत पड़ी वह उनका सामना करने के लिए तैयार हैं। हालांकि कमिटी ने अपनी रिपोर्ट में सबसे बड़ी चुनौती के बारे में भी विस्तार से उल्लेख किया और कहा कि युवाओं को कट्टर और जेहादी बनाने के लिए इंटरनेट और सोशल मीडिया का गलत तरीके के इस्तेमाल किया जा रहा है, जो चिंता का विषय है। 

गृह मंत्रालय ने संसदीय पैनल को बताया कि भारत हमेशा से ही पाकिस्तान के लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों के निशाने पर रहा है। इसके अलावा सिमी, अल-उम्मा और इंडियन मुजाहिद्दीन जैसे आतंकी संगठन भी भारत पर नजरें गड़ाए हुए हैं। इन आतंकी संगठनों से निपटना पहले से ही भारत के लिए बड़ी चुनौती था और अब अल-कायदा और आईएस जैसे संगठन भी सामने आ गए। आतंक को लेकर भारत की चुनौतियां लगातार बढ़ी ही हैं। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


बेस प्राइज एक करोड़ में ही बिके युवराज सिंह, पहली बार मुंबई के लिए खेलेंगे 

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : एक समय में अपनी शानदार बल्ले...

दिलीप कुमार को धमकाने वाला बिल्डर जेल से छूटा, सायरा बानो ने पीएम मोदी से फिर मांगी मदद

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : अपने जमाने के मशहूर एक्टर दिलीप ...

top