Wednesday, December 12,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

सरकार ने फेसबुक को दिया नोटिस, पूछा-चोरी हुए डाटा का कहां-कहां उपयोग हुआ?

Publish Date: March 28 2018 08:06:08pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : फेसबुक यूजर्स के पर्सनल डेटा की चोरी और उसका चुनावों को प्रभावित करने में इस्तेमाल के खुलासे के बाद सरकार ने फेसबुक को नोटिस जारी कर पूछा है कि क्या भारतीय वोटरों और यूजर्स के पर्सनल डेटा का भी कैम्ब्रिज एनालिटिका या किसी अन्य फर्म ने इस्तेमाल किया है? सरकार ने यह भी पूछा है कि क्या फेसबुक डेटा का भारतीय चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने में भी इस्तेमाल हुआ है?

संचार और सूचना तकनीक मंत्रालय ने फेसबुक को इन सवालों के विस्तृत जवाब देने को कहा है। सरकार के उक्त मंत्रालय ने पूछे गए सवालों के जवाब के लिए फेसबुक को 7 अप्रैल 2018 तक का समय दिया है। सरकार ने इससे पहले शुक्रवार को फेसबुक को नोटिस जारी कर कैम्ब्रिज एनालिटिका द्वारा हासिल किए गए फेसबुक डेटा का डीटेल मांगा था। फेसबुक से पूछा गया है कि क्या भारतीय वोटर्स और यूजर्स के पर्सनल डेटा का कैम्ब्रिज एनालिटिका या किसी अन्य फर्म ने किसी भी तरह से दुरुपयोग किया है, और अगर हां तो ऐसा कैसे हुआ? 

सरकार ने फेसबुक से यह भी विवरण मांगा है कि अगर किसी फर्म ने फेसबुक डेटा का दुरुपयोग किया है तो उससे सुरक्षा के लिए फेसबुक ने किस तरह के कदम उठाए हैं? भारतीय चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने या इसमें दखल देने के लिए यूजर्स के पर्सनल डेटा के दुरुपयोग को रोकने के लिए फेसबुक किस तरह के कदम उठा रहा है। मंत्रालय के पत्र में लिखा गया है कि भारत में फेसबुक के सबसे ज्यादा यूजर्स हैं लिहाजा इतने विशाल यूजर डेटा की सुरक्षा और प्रिवेसी को सुनिश्चित करने के लिए फेसबुक ने क्या कदम उठाए हैं ताकि किसी थर्ड पार्टी द्वारा डेटा का दुरुपयोग रोका जा सके। 

इससे पहले सरकार ने कैम्ब्रिज एनालिटिका को नोटिस जारी कर पूछा था कि क्या उसने भारतीयों का डेटा भी हासिल किया था और उनका दुरुपयोग किया था। कंपनी को 31 मार्च तक जवाब का वक्त दिया गया है। 

बता दें कि कैम्ब्रिज एनालिटिका डेटा लीक मामले में विसलब्लोअर क्रिस्टोफर वाइली ने एजेंसी द्वारा भारत में किए गए चुनाव कार्यों का ब्योरा बुधवार को सार्वजनिक कर दिया। वाइली ने ट्वीट कर जो जानकारी साझा की है, उससे साफ पता चलता है कि उक्त कंपनी ने भारत में बड़े पैमाने पर जाति गणना समेत चुनावी विश्लेषण का काम किया है। ये काम उसे देश के कई राजनीतिक दलों द्वारा दिए गए थे। ट्वीट में 2010 के बिहार चुनाव में जेडीयू द्वारा इस कंपनी के इस्तेमाल की बात साफ तौर पर कही गई है। 

इससे पहले वाइली ने मंगलवार को ब्रिटिश संसद में दिए अपने बयान में दावा किया था कि एनालिटिका का भारत में भी ऑफिस था और इसने यहां काफी काम किया था। उसने यह भी कहा था कि कांग्रेस उसकी क्लायंट थी। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


पीवी सिंधू की धमाकेदार शुरुआत, पूर्व चैंपियन यामागुची को दी मात

गुआंगझू (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत की स्टार महिला शटलर पीवी स...

Kapil Sharma Wedding: बारात लेकर कपिल शर्मा पहुंचे क्लब कबाना

जालंधर (उत्तम हिन्दू न्यूज): कॉमेडियन कपिल शर्मा गिन्नी संग विवाह रचाने के लिए बारात के सा...

top