Tuesday, December 18,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

दलित आन्दोलन पर पीएम मोदी ने तोड़ी चुप्पी, कहा आंबेडकर को राजनीति में मत घसीेटों

Publish Date: April 04 2018 05:31:23pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : एससी-एसटी ऐक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ आयोजित भारत बंद के दौरान हुई हिंसा के बाद पहली बार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी चुपी तोड़ी है। बुधवार को दिल्ली के एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कहा कि आंबेडकर को राजनीति में घसीटने की बजाय उनके दिखाए गए रास्ते पर चलने की जरूरत है। पीएम ने कहा कि आंबेडकर को जितना सम्मान उनकी सरकार ने दिया, किसी और सरकार ने नहीं दिया। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर हमला बोलते हुए कहा था कि वह दलितों, आदिवासियों के खिलाफ हो रहे अत्याचारों और एससी-एसटी ऐक्ट को शिथिल बनाये जाने जैसे मुद्दों पर एक भी शब्द क्यों नहीं बोल रहे हैं। इसके बाद आई प्रधानमंत्री की इस टिप्पणी को गंभीरता से लिया जा रहा है।

आपको बता दें कि 2 अप्रैल को दलित और पिछड़ी जातियों के संगठनों ने भारत बंद का आह्वान किया था। इस दौरान व्यापक हिंसा हुई और 12 लोगों की मौत हो गई। दलित संगठन और विपक्ष केंद्र सरकार पर एससी-एसटी ऐक्ट को कमजोर करने की साजिश का आरोप लगा रहे हैं। हालांकि केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में एससी-एसटी ऐक्ट के फैसले के खिलाफ में रिव्यू पिटिशन दाखिल की थी लेकिन सर्वोच्च अदालत ने स्टे नहीं दिया। 

इस मसले पर घिरी मोदी सरकार की तरफ से पहले राजनाथ सिंह ने संसद में सरकार का पक्ष रखा। इसके बाद पाटीज़् की तरफ से अमित शाह ने बात रखी और अब पीएम मोदी ने परोक्ष रूप इसपर टिप्पणी की है। पीएम मोदी ने नई दिल्ली वेस्टर्न कोर्ट एनेक्सी की नई इमारत का उद्घाटन कार्यक्रम में बाबा साहब आंबेडकर के जरिए इस मामले पर अपनी बात रखी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आंबेडकर के नाम पर केवल राजनीति की गई। 

उन्होंने कहा कि अटल सरकार के समय आंबेडकर से जुड़े दो भवनों के निर्माण की योजना बनाई गई। बाद की सरकारों ने केवल राजनीति की। अब जाकर हम उस योजना को पूरा करने के लिए तैयार हैं। जब मैंने शिलान्यास किया था तो कहा था कि 2018 अप्रैल में इसका लोकापर्ण करूंगा। 13 अप्रैल को उसका लोकार्पण है और 14 अप्रैल को बाबा साहब आंबेडकर का जन्मदिन। दरअसल पीएम मोदी आंबेडकर इंटरनैशनल सेंटर का जिक्र कर रहे थे, जिसका उद्घाटन होने वाला है। 

पीएम मोदी ने कहा कि बाबा साहब आंबेडकर को शायद किसी सरकार ने इतना मान सम्मान नहीं दिया होगा जितना इस सरकार ने दिया है। आंबेडकर को राजनीति में घसीटने की बजाय उनके दिखाए रास्ते पर चलना चाहिए। बंधुता के महात्मय को छोड़कर कभी आगे नहीं बढ़ सकते। हम लोग आखिरी छोर में बैठे हुए लोगों के लिए जीने मरने वाले लोग हैं। महात्मा गांधी ने हमें यही रास्ता दिखाया है। यही सरकार की जिम्मेदारी है और सरकार इस जिम्मेदारी को निभा रही है।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


आईपीएल 12 : बेस प्राइस से 46 गुणा महंगा बिका ये खिलाड़ी, क्रिकेट के लिए छोड़ दी थी नौकरी

जयपुर (उत्तम हिन्दू न्यूज): वरुण चक्रवर्ती ने सभी को हैरान कर...

दिलीप कुमार को धमकाने वाला बिल्डर जेल से छूटा, सायरा बानो ने पीएम मोदी से फिर मांगी मदद

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : अपने जमाने के मशहूर एक्टर दिलीप ...

top