Sunday, December 09,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

पूर्व राष्ट्रपति मुखर्जी को दिल्ली हाईकोर्ट की नोटिस, अपनी किताब से हटाएं हिन्दुओं को आहत करने वाले हिस्से 

Publish Date: April 06 2018 06:59:24pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : दिल्ली उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को एक नोटिस जारी कर अनुरोध किया कि वह अपनी एक किताब में लिखे कुछ हिस्सों को हटा लें क्योंकि उससे हिन्दुओं की भावना आहत हो रही है। कोर्ट में दायर एक याचिका के मुताबिक उनकी किताब में लिखी कुछ लाइनों से हिंदू भावनाएं आहत होने का आरोप है। न्यायमूर्ति प्रतिभा एम सिंह ने पूर्व राष्ट्रपति को नोटिस जारी करते हुए 30 जुलाई को सुनवाई के लिए मामले को सूचीबद्ध किया है।

उच्च न्यायालय में ये अपील 30 नवंबर, 2016 के निचली अदालत के आदेश के खिलाफ दायर की गई थी, जिसमें टरबुलेंट इयर्स 1980-1996 पुस्तक से कुछ सामग्रियों को हटाने की मांग खारिज कर दी गई थी। ये मुकदमा एक सामाजिक कार्यकर्ता-यू सी पांडे ने दायर किया था। उन्होंने 1992 के अयोध्या में बाबरी मस्जिद के विध्वंस के बारे में किताब के कुछ संदर्भों पर अपनी आपत्ति जताई थी। उनका कहना है कि किताब में लिखी कुछ लाइनें ऐसी हैं जो हिंदुओं की आस्था आहत करती हैं। 

उन्होंने उच्च न्यायालय से कहा कि किताब प्रकाशित होने के तुरंत बाद कार्रवाई होनी चाहिए थी। लेकिन निचली अदालत ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की ये किताब 5 सितंबर, 2016 को प्रकाशित हुई थी। वहीं तत्कालीन राष्ट्रपति के वकील ने ट्रायल कोर्ट में याचिका का विरोध किया था और कहा कि यह उचित नहीं। जबकि अभियोजन पक्ष की तरफ से मामले को गंभीर और जनता की भावनाओं से जोड़कर पेश किया। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


एडिलेड टेस्ट : एडिलेड में 15 साल बाद जीत के करीब पहुंचा भारत

एडिलेड (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय गेंदबाजों रविचंद्रन अश्वि...

'गोपी बहू' गिरफ्तार, हीरा व्यापारी की हत्या में शामिल होने का आरोप 

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : एक हीरा व्यापारी की हत्‍या के सि...

top