Tuesday, December 18,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

छिटपुट हिंसा के बीच शांतिपूर्ण रहा भारत बंद, पंजाब के फिरोजपुर में झड़प

Publish Date: April 10 2018 08:27:35pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : भारत बंद के दौरान कई राज्यों में शांति रही तो कई राज्यों से जबरदस्त उपद्रव की खबर है। उत्तर प्रदेश में छिटफुट घटनाओं को छोड़ ज्यादातर स्थानों पर शांति रही लेकिन बिहार, मध्य प्रदेश और पंजाब में आपसी झड़प एवं पुलिस बल के साथ पथराव की सूचना है। पंजाब के तीनों क्षेत्रों माझा, मालवा व दोआबा के नगरों से आई सूचना के अनुसार लोगों ने स्वतस्फूर्त प्रक्रिया से इस बंद को समर्थन दिया। फिरोजपुर में आंशिक हिंसा के समाचर हैं। 

पंजाब के सबसे बड़े क्षेत्र मालवा के फिरोजपुर, अबोहर, फाजिल्का, मुक्तसर, बरनाला, कोटकपूरा, फरीदकोट, नाभा, दोआबा के फगवाड़ा, गढ़दीवाल, कपूरथला, तलवाड़ा, माझा के बटाला सहित लगभग हर शहर में बंद को भरपूर सफलता मिली। हालांकि बंद का असर सरकारी दफ्तरों व बैंकों पर नहीं देखने को मिला। प्रदर्शन के दौरान कहीं हिंसा की बहुत बड़ी खबर नहीं मिली परंतु फिरोजपुर में दो गुटों में टकराव की खबर है। गढ़दीवाल में कुछ शरारती तत्वों ने जबरन दुकानें खुलवाने का भी प्रयास किया। पुलिस प्रशासन की सक्रियता के चलते इन प्रयासों को असफल कर दिया गया। जातिगत आरक्षण के मुद्दे पर विरोध की वजह से मध्य प्रदेश के ग्वालियर, भिंड और मुरैना में आज दिन का कफ्र्यू लगा दिया गया। संभावना यह भी जताई जा रही है कि इसे रात तक जारी रखा जाएगा। मध्यप्रदेश में भी स्कूल कॉलेज की छुट्टी कर दी गई है। कई शहरों में इंटरनेट की सुविधा भी आज पूरे दिन के लिए बंद कर दी गई।

राज्य के विभिन्न नगरों में लोगों ने कैंडल मार्च व शांति मार्च निकाल कर सामाजिक एकता का संदेश दिए जाने की भी खबर आ रही है। विभिन्न वक्ताओं ने लोगों को विभाजनकारी शक्तियो से सावधान रहने की अपील की गई और सरकार से मांग की गई कि समाज के सभी वर्गों को आर्थिक आधार पर सरकारी सुविधाएं दी जाएं। कई जगहों पर निजी स्कूल-कालेज भी बंद रहे। जिला जालंधर में लांबड़ा में कुछ दुकानें बंद करवाई गई लेकिन सख्त पुलिस प्रबंधों के चलते किसी प्रकार का कोई तनाव पैदा नहीं हुआ। जिला में सभी सरकारी और निजी कार्यालय यथावत खुले रहे। सुरक्षा की दृष्टि से निजी शिक्षण संस्थान बंद रहे जबकि सरकारी स्कूल खुले थे। सोशल मीडिया पर बंद को स्वैच्छिक और शांतिपूणज़् बनाने के आह्वान के तहत किसी को भी बाजार बंद कराते नही देखा गया। हालांकि बंद को देखते हुये कुछ निजी स्कूलों ने पहले ही अवकाश घोषित कर दिया था। 

राजस्थान से मिली खबर में बताया गया है कि जयपुर, सीकर, झुंझुनूं, अलवर, करौली, भरतपुर में किसी तरह की कोई अप्रिय वारदात नहीं हुई। इसके बाद शाम 6.30 बजे इंटरनेट सेवा शुरू कर दी गई है। किसी भी स्थान से तोडफ़ोड़ या हिंसा की सूचना नहीं मिली है। किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए राजस्थान के 13 जिलों में अद्र्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है। भारत बंद के समर्थन में कोई भी संगठन सामने नहीं आया है। इसके बावजूद राजधानी जयपुर समेत कई शहरों में व्यापारियों ने स्वयं अपनी दुकानें बंद रखी। हालांकि कुछ शहरों में बंद का मिला-जुला असर देखने को मिल रहा है।

बिहार के आरा में भारत बंद के दौरान झड़प हुई। प्रदर्शन के दौरान फायरिंग व पथराव में 6 से 7 पुलिसकर्मी घायल हो गए। गया में भी प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प की सूचना है। पटना में प्रदर्शन हिंसक हो गया। उधर मोतिहारी में प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में भाग लेने जा रहे केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा की गाड़ी को प्रदर्शनकारियों ने रोक लिया। बताया जा रहा है कि उन्हें आरक्षण समर्थक बताकर उनके साथ बदसलूकी की गयी। शेखपुरा के बरबीघा में पुलिस प्रशासन द्वारा बरबीघा क्षेत्र में धारा 144 लगाये जाने की सूचना प्रसारित की जा रही है। प्रदर्शनकारियों और पुलिसकर्मियों के बीच झड़प में डीएसपी के घायल होने की सूचना है। बिहार के आरा, भोजपुर, मुजफ्फरपुर में सड़कों पर आगजनी और हिंसक झड़पें हुईं। पटना, बेगूसराय, लखीसराय, मुजफ्फरपुर भोजपुर और दरभंगा में ट्रेनें रोकी गईं। बिहार में प्रदर्शन कर रहे 127 लोगों की पुलिस ने गिरफ्तारी किया। 


 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


बेस प्राइज एक करोड़ में ही बिके युवराज सिंह, पहली बार मुंबई के लिए खेलेंगे 

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : एक समय में अपनी शानदार बल्ले...

दिलीप कुमार को धमकाने वाला बिल्डर जेल से छूटा, सायरा बानो ने पीएम मोदी से फिर मांगी मदद

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : अपने जमाने के मशहूर एक्टर दिलीप ...

top