Tuesday, December 11,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

सेनाओं को लैस रखने के साथ भारत शांति के लिए भी प्रतिबद्ध: मोदी

Publish Date: April 12 2018 02:04:08pm

चेन्नई (उत्तम हिन्दू न्यूज): प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि भारत अपनी सेनाओं को अभेद्य ताकत देने में जुटा है क्योंकि उसकी शांति के प्रति वचनबद्धता उतनी ही मजबूत है जितनी कि अपने लोगों तथा देश की रक्षा के प्रति है। मोदी ने कल यहां शुरू हुई चार दिन की रक्षा प्रदर्शनी का विधिवत उदघाटन करने के बाद कहा कि भारत की रक्षा तैयारियां शांति के सिद्धांत पर आधारित है और इसी प्रतिबद्ता के आधार पर वह अपनी सेनाओं को अत्याधुनिक हथियारों से लैस कर रहा है! महान भारतीय विचारक कौटिल्य के इस विचार का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि राजा को अपने लोगों की रक्षा करनी चाहिए लेकिन उन्होंने साथ ही यह भी कहा था कि शांति युद्ध से कहीं अच्छा विकल्प है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस सिद्धांत को ध्यान में रखते हुए भारत अपनी सेनाओं को अभेद्य हथियारों से लैस करने के लिए हर कदम उठाने को तैयार है। इसके लिए वह रक्षा क्षेत्र के उत्पादों के लिए अलग से रक्षा औद्योगिक परिसर की स्थापना भी कर रहा है। उन्होंने कहा कि भारत का हजारों सालों का इतिहास बताता है कि उसने कभी किसी की जमीन पर नजर नहीं डाली, लडाई से देश जीतने के बजाय उसने दिलों को जीता है। भारत की जमीन से हमेशा शांति का संदेश गया है और भारत ने अपनी ताकत का इस्तेमाल मानवता के मूल्यों की रक्षा के लिए किया है। संयुक्त राष्ट्र शांति सेना में भारत का योगदान इसकी मिसाल है। मोदी ने कहा कि उन्हें पता है य​ह सरल काम नहीं है और काफी चीजें करने की जरूरत पडेगी । उनकी सरकार ने इस​के लिए पिछले कुछ सालों में ठोस कदम उठाये हैं जिनके परिणाम सामने आ रहे हैं। 

प्रधानमंत्री ने पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार पर नीतिगत निर्णय लेने में अनिश्चितता का आरोप लगाते हुए कहा कि इससे रक्षा तैयारियों में बाधा आई है। इस उदासीनता से और अक्षम निर्णयों के पीछे कोई उदेश्य हो सकता है लेकिन इनसे देश को नुकसान पहुंचता है। पुरानी सरकारों द्वारा लंबे समय तक लटकाये रखे गये विषयों का उनकी सरकार ने समाधान किया है,जहां सेना को वर्षों तक बुलेट प्रूफ जैकेटों का इंतजार करना पडा ,वहीं वायु सेना को लडाकू विमानों के लिए लंबा इंतजार करना पडा है। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार ने जैकेट की आपूर्ति के साथ साथ वायु सेना की तात्कालिक जरूरत को ध्यान में रखकर अभी 110 लडाकू विमानों की खरीद की प्रक्रिया शुरू की है। उन्होंने कहा कि  हम बिना किसी परिणाम के दस वर्ष सौदे की बातचीत में नहीं गंवा सकते हमने साहसिक निर्णय लेते हुए सेनाओं की जरूरत पूरी की है। सरकार सेनाओं को हथियारों से लैस करने के साथ साथ घरेलू विनिर्माण का तंत्र भी विकसित करेगी। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


आईसीसी टेस्ट रैंकिंग : विराट कोहली शीर्ष पर बरकरार, पुजारा चौथे नंबर पर

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): आस्ट्रेलियाई जमीन पर अपनी अगु...

कल प्रेमिका गिन्नी के साथ शादी रचाएंगे कपिल शर्मा, सामने आई प्री-वेडिंग की तस्वीरें

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): हास्य अभिनेता-निर्माता कपिल शर्मा कल यानी 12 दिसंबर को अपनी प्...

top