Saturday, December 15,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

दुश्मनों को सबक सिखाने के लिए अब देश में ही बनेगा F/A-18 फाइटर प्लेन

Publish Date: April 12 2018 08:01:02pm

चेन्नई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : दुनिया की प्रमुख सैन्य विमान बनानेवाली कंपनी बोइंग, भारतीय कंपनियों के साथ मिलकर देश में ही फाइटर प्लेन बनाएगी। इससे संबंधित बोइंग इंडिया, हिंदुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड और महिंद्रा डिफेंस सिस्टम्स (एमडीएस) ने वीरवार को एक महत्वपूर्ण समझौते पर हस्ताक्षर किए। इसके तहत देश में ही करीब 2000 किमी प्रति घंटे की रफ्तार वाली एफ/ए-18 सुपर हॉर्नेट फाइटर प्लेन बनाए जाएंगे। लिहाजा इंडियन एयरफोर्स को आसमान का महाशक्तिशाली योद्धा मिलनेवाला है। 

बोइंग इंडिया के प्रेजिडेंट प्रत्युष कुमार, एचएएल के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर टी सुवर्ण राजू और महिंद्रा डिफेंस सिस्टम्स के चेयरमैन एसपी शुक्ला ने यहां चल रहे डिफेंस एक्सपो में मेक इन इंडिया फाइटर के लिए मेमोरैंडम ऑफ अग्रीमेंट का आदान-प्रदान किया। आपको बता दें कि हाल ही में 110 फाइटर जेट्स के मेगा कॉन्ट्रैक्ट की दिशा में रक्षा मंत्रालय ने आरएफआई (रिक्वेस्ट फॉर इन्फर्मेशन) जारी किया है। 

कुमार ने बताया कि इस समझौते को लेकर पिछले 18 महीने से बात चल रही थी। उन्होंने कहा, सामरिक साझेदारी की सरकार और एमओडी (रक्षा मंत्रालय) की मंशा मेक इन इंडिया एयरक्राफ्ट बनाने की है। हमने देश की कई कंपनियों से तमाम पहलुओं पर चचाज़् की। इसके साथ ही हमने 400 से ज्यादा सप्लायसज़् के साथ विचार-विमशज़् किया। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड अकेली ऐसी कंपनी है जो लड़ाकू विमान बनाती है जबकि महिंद्रा डिफेंस अकेली कंपनी है जो छोटे कमशज़्ल प्लेन्स बनाती है। यह हमारे लिए काफी रोमांचकारी है। एक सवाल के जवाब में कुमार ने कहा कि जॉइंट वेंचर कंपनी अगले तीन महीने में काम करने लगेगी। उन्होंने आगे यह भी बताया कि समझौते के तहत भारी निवेश होगा। हालांकि उन्होंने निवेश को लेकर कोई आंकड़ा रखने से इनकार कर दिया। 

समझौते पर महिंद्रा डिफेंस सिस्टम्स के चेयरमैन एसपी शुक्ला ने कहा, 'यह एक गठजोड़ है... हमारे पास तीन कंपनियां हैं जो अलायंस को अपनी विशेषज्ञता, डोमेन नॉलेज और फ्लेवर देंगी। हिंदुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर टी सुवणज़् राजू ने कहा कि समझौते के तहत मौजूदा फसिलटीज का इस्तेमाल फाइटर प्लेन बनाने में किया जा सकता है या अगर जरूरी हुआ तो एक फसिलटी भी स्थापित की जा सकती है। 

आपको बता दें कि सुपर एफ/ए-18 हॉर्नेट फाइटर एयरक्राफ्ट पर न सिर्फ लागत कम आएगी बल्कि किसी टैक्टिकल एयरक्राफ्ट की तुलना में इसकी ऑपरेटिंग कॉस्ट प्रति घंटे भी कम आएगी। एफ/ए-18 सुपर हॉर्नेट भारत की डिफेंस पावर को मजबूत कर आनेवाले दशकों में भारत को और भी ताकतवर देश बना देगा। इस जबरदस्त फाइटर प्लेन के मिलने से दुश्मन के नापाक इरादों का खतरा भी कम हो जाएगा। वीरवार को इस डिफेंस एक्सपो का औपचारिक तौर पर उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। बोइंग  सुपर हॉर्नेट फाइटर प्लेन दो इंजन के साथ ही कई भूमिका निभा सकते हैं। इनकी स्पीड 1915 किमी प्रति घंटे और रेंज 3,330 किमी होती है। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


पर्थ टेस्ट : दूसरे दिन का खेल खत्म, भारत का स्कोर- 173/3

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज) : भारत ने यहां पर्थ स्टेडियम में आस...

Isha weds Anand: मेहमानों की खातिरदारी करते दिखे अमिताभ, आमिर और शाहरूख, देखें तस्वीरें

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): देश के मशहूर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी ने हाल ...

top