Monday, December 17,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

भारत-चीन सीमा पर चरवाहों और सेना के जवानों के बीच तनाव 

Publish Date: April 22 2018 02:09:49pm

श्रीनगर (उत्तम हिन्दू न्यूज) : जम्मू-कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र में भारत-चीन सीमा पर लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल के समीप शुक्रवार से ही चरवाहों और सेना के जवानों के बीच तनाव कायम है। हालांकि इस तनाव को कम करने की पूरी कोशिश हो रही है लेकिन अभी तक कोई बात बनने की आधिकारिक जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गयी है। इस इलाके में रहने वाले चरवाहों का आरोप है कि कि सेना उन्हें अपने ही क्षेत्र में भेड़-बकरियां चराने नहीं दे रही है। तकदीर गांव के लोगों का कहना है कि पीढिय़ों से वे इस इलाके में अपनी मवेशियों को चराते रहते हैं, जबकि सेना के जवान अब चरवाहों को उस इलाके में बकरियों को चराने से मना कर रहे हैं। ऐसे में कई बार स्थिति बहुत तनाव वाली हो जाती है। शुक्रवार को हालत ये हो गए कि पहले दोनों पक्षों में हाथापाई हुई और बाद में पत्थरबाजी शुरू हो गई। इसे सेना के 4 जवान घायल हो गए।   

सेना ने मसले को सुलझाने के लिए प्रशासन और स्थानीय लोगों के साथ बैठक की लेकिन इसके बावजूद तनाव बना हुआ है। इलाके के पार्षद दोर्जे का कहना है कि यहां 350 परिवार रहते हैं जो भेड़ बकरियां चराकर अपना जीवन यापन करते हैं। उन्होंने कहा कि यदि उन्हें अपने ही इलाके में बकरियां चराने से रोका जाएगा तो वे गृहमंत्री और रक्षामंत्री को इस संबंध में पत्र लिखेंगे। ग्रामीणों का कहना है कि सेना और आईटीबीपी की तरफ से उन्हें भेड़ बकरियां चराने से रोकने का फायदा दरअसल चीन को ही मिलता है। इस पहाड़ी इलाके को खाली देखकर चीनी सेना के जवान धीरे धीरे भारतीय सीमा में घुसने लगते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि लद्दाख क्षेत्र में दुम्चुले एक जगह है, जहां 30 साल पहले तक चरवाहे जाते थे, लेकिन जब उन्हें वहां जाने से रोक दिया गया तो चीन ने वहां कब्जा जमा लिया।

गौरतलब है कि लद्दाख क्षेत्र में भारत-चीन के बीच सीमा विवाद 1962 की लड़ाई के बाद से ही जारी है। सीमा पर कोई निशान नहीं है और दोनों देशों के अपने अपने दावे होते हैं। लिहाजा दोनों देशों के बीच अक्सर सीमा विवाद सामने आते ही रहते हैं। मगर पिछले कुछ सालों में चीन जिस तरह से अपना ढांचा तैयार कर रहा है, स्थानीय लोगों में चिंताएं बढ़ गई हैं।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


मां नयनादेवी के दरबार में पहुंचीं रवीना टंडन  

शिमला (उत्तम हिन्दू न्यूज): मशहूर बॉलीवुड अभिनेत्री रवीना टंडन आज मां नयनादेवी के दर्शनों ...

top