Friday, December 14,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

जम्मू-कश्मीर में अपराधी धार्मिक केन्द्रों को बना रहे हैं अपराध का अड्डा, पढि़ए मौलवी की करतूत

Publish Date: April 23 2018 03:07:52pm

जम्मू (उत्तम हिन्दू न्यूज) : ऐसा लगता है कि अब कोई धार्मिक स्थल सुरक्षित नहीं रहा। कुछ गैरजिम्मेदार धर्म गुरुओं के द्वारा आए दिन कई ऐसे अपराध को अंजाम दिया गया जिसके कारण लोगों का विश्वास न केवल धर्म गुरुओं के प्रति उठता जा रहा है अपितु धार्मिक स्थलों से भी लोगों का विश्वास उठने लगा है। अभी-अभी हाल ही में कुछ अपराधियों ने जघन्य और अमानवीय अराध के लिए कठुआ जिले के एक धार्मिक स्थल का उपयोग किया गया। इसी से मिलती जुलती घटना इन दिनों स्थानीय स्तर चर्चा में है। लिहाजा, उसी कठुआ में एक मौलवी ने मदरसे में पढऩे वाली लड़की के साथ बलात्कार कर दिया। हालांकि लड़की के परिजनो की शिकायत पर मौलवी पकड़ा जा चुका है लेकिन मामले को लेकर अभी भी क्षेत्र में तनाव का माहौल बना हुआ है। 

सात साल की मासूम बच्ची के साथ बलात्कार के आरोप में पुलिस ने मौलवी को गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान शाहनवाज हुसैन, निवासी पश्चिम बंगाल के रूप में हुई है। इस मामले में पुलिस ने 376 धारा के अंतर्गत केस दर्ज किया है। पुलिस के अनुयार आरोपी नगरोटा विधानसभा क्षेत्र के एक मदसरे में पढ़ा रहा था। वह हाल ही में पश्चिम बंगाल से यहां आया था और मदरसे में पढ़ाना प्रारंभ किया था। एक सुबह उक्त बच्ची जैसे ही मदरसे पढऩे पहुंची, उक्त आरोपी ने उसे दबोच लिया और उसका बलात्कार कर दिया। 

इस घटना में उक्त बच्ची का निजी अंग क्षतिग्रस्त हो गया। बच्ची जब कराहते हुए अपने घर पहुंची तो उससे परिजनों ने मामले की जानकारी चाही। तब बच्ची ने आपबीती बताई। इसके बाद परिजन बच्ची को लेकर नगरोटा पुलिस चौकी पहुंचे जहां मौलवी के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया। चूकि मामला बेहद गंभीर था इसलिए पुलिस हरकत में आ गयी। स्थानीय पुलिस का कहना है कि आनन-फानन में कार्रवाई की गयी और आरोप पकड़ा गया। आरोपी का चाचा इसी क्षेत्र के दूसरे मदरसे में पढ़ाता है। वही इसे लेकर यहां आया था। इसलिए पुलिस चाचे को भी निशाने पर रखे हुए है। 

हालांकि इस प्रकार की घटनाएं पूरे देश भर में घट रही है लेकिन जम्मू-कश्मीर में इन दिनों इस प्रकर की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है। स्थानीय पुलिस का कहना है कि बाहर के लोग जो चहां आकर मदरसों में पढ़ाते हैं वे न केवल यहां के लोगों को उक्साते हैं अपितु स्थानीय भोले-भाले ग्रामीणों का कई प्रकार से शोषण भी करते हैं। घाटी के साथ ही साथ पूरे प्रदेश में अधिकतर मदरसे में बिहार, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल के मौलवी हैं जो स्थानीय लोगों का भरपूर शोषण कर रहे हैं। स्थानीय स्तर पर काम करने वाले एनजीओ के एक कार्यकत्र्ता का कहना है कि जिस प्रकार से जम्मू-कश्मीर के लोगों का चारो ओर से शोषण हो रहा है वह अति निंदनीय है। इसपर रोक लगनी चाहिए और बाहरी लोगों की पहुंच चारो ओर से बंद होनी चाहिए। इससे प्रदेश में आतंकवाद पर अंकुश लगेगा।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


शादी के बंधन में बंधे साइना नेहवाल और पी. कश्यप, देखें तस्वीरें

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत के दो स्टार बैडमिंटन खिल...

सामने आया नीता अंबानी का 33 साल पुराना Bridal Look, आप भी देखें तस्वीरें

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): 12 दिंसबर को देश के मशहूर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अ...

top