Wednesday, December 19,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

जो भी राक्षसी काम करेगा उसे फांसी पर लटकाया जाएगा : PM मोदी 

Publish Date: April 24 2018 02:11:21pm

मांडला (उत्तम हिन्दू न्यूज) : मध्य प्रदेश के मांडला में पंचायती राज दिवस पर एक सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सपने साकार करने का समय आ चुका है। उन्होंने कहा कि हमारे पास बापू के बताए रास्ते पर चलने के अवसर है। ऐसे में हमें कुछ अच्छा करने का संकल्प लेना चाहिए। मोदी मंगलवार को आत्मविश्वास से भरे दिखे। उन्होंने सभा के दौरान पंचायती राज पर कई टिप्पणी की और राष्ट्रपिता गांधी का बार-बार नाम लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि हम देश में ग्रामीण विकास के बहुत कुछ कर सकते हैं। दरअसल, 24 अप्रैल को पंचायती राज दिवस मनाने के लिए प्रधानमंत्री ने मांडला का चयन किया था।  

इस दौरान हाल में पीओसीएसओ एक्ट में किए गए बदलाव के बारे में भी प्रधानमंत्री ने जबरदस्त दलील प्रस्तुत की और कहा कि जो भी राक्षसी काम करेगा, उसे फांसी पर लटकाया जाएगा। आज की केंद्र सरकार लोगों की भावनाओं को समझती है और उसके हिसाब से निर्णय ले रही है। ये एक सामाजिक बदलाव है, उन्होंने कहा कि हमें अपने लड़कों को भी समझाना होगा। बेटों को बेटियों की इज्जत करना सिखाना होगा। परिवारों को घर के अंदर ही इस बदलाव को शुरू करना होगा। 

पंचायती राज दिवस से जुड़े एक कार्यक्रम में उन्होंने जनता को संबोधित किया। मोदी ने कहा, मुझे राष्ट्रीय पंचायती दिवस के मौके पर एमपी में आकर खुशी हुई। बापू ने हमेशा गांवों के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने हमेशा ग्राम स्वराज की बात की। जब ग्रामीण विकास की बाती आती है तो बजट अहम होते हैं लेकिन कुछ सालों में इसमें बदलाव आया है। पीएम ने इसी के साथ उत्तर-पूर्वी राज्यों में सरकार बनाने को लेकर कहा, त्रिपुरा में ऐतिहासिक काम किया गया। बीजेपी ने वहां अपनी सरकार बनाई। अब महात्मा गांधी के सपनों को साकार करने का अवसर आया है। बापू ने कहा था कि भारत की पहचान उसके गांवों से है। आपके सपनों के साथ सरकार के भी सपने हैं। ऐसे में आप ठानें कि जीना शान से हो और मरना संकल्प के साथ। पांच सालों में कुछ अच्छा करने का संकल्प लें।

पीएम मोदी ने इसी के साथ सभी पंचायत के प्रतिनिधियों से अपील की कि वे संकल्प लें कि हमारे गांवों में कोई भी बच्चा पढ़ाई से वंचित न रहने पाए। बकौल मोदी, हम जनप्रतिनिधि सरकार के सेवक नहीं है, हम जनता की सेवा के लिए चुनकर आते हैं। पीएम ने इसी के साथ यहां से कई योजनाओं की शुरुआत भी की। पानी की अहमियत बताते हुए प्रधानमंत्री ने आगे कहा, लोगों को इस बात पर सोचना चाहिए कि आखिर वह पानी के संरक्षण के लिए आखिर क्या-क्या उपाय कर सकते हैं। पानी की एक-एक बूंद बेहद कीमती है, उसे बबाज़्द नहीं किया जाना चाहिए।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


क्लब वर्ल्ड कप : अल ऐन ने किया उलटफेर, रिवर प्लेट को हराया

अबू धाबी(उत्तम हिन्दू न्यूज)- कोपा लिबर्टाडोरेस विजेता रिवर प...

रिलीज से पहले विवादों में कंगना की फिल्म, इस एक्टर ने निर्माताओं पर लगाए आरोप

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : अगले साल 25 जनवरी को रिलीज होने ...

top