Wednesday, December 12,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

केन्द्र सरकार का हलफनामा, सजा-ए-मौत के लिए फांसी बेहतर 

Publish Date: April 24 2018 02:44:48pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : केंद्र सरकार ने कहा कि इंजेक्शन, इलेक्ट्रिक चेयर या फिर फायरिंग, फांसी के मुकाबले ज्यादा अमानवीय और दर्दनाक है। इसलिए फंसी की सजा बरकरार रहनी चाहिए। दरअसल, दिल्ली के एक अधिवक्ता ने इस सजा को खत्म कर किसी दूसरे विकल्प की वकालत की थी। उक्त वकील ने इस संदर्भ की एक याचिका सर्वाच्च न्यायालय में दाखिल कर रखी है। उसी याचिका के आलोक में केन्द्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया है। 
 
केंद्र सरकार ने कहा है कि मौत की सजा के लिए फांसी सबसे जल्दी और सुरक्षित तरीका है, जबकि फायरिंग या इंजेक्शन बेहद अमानवीय और दर्दनाक है। सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में दायर किए हलफनामे में केंद्र सरकार ने कहा कि फांसी की सजा रेयरस्ट ऑफ द रेयर मामलों में दी जाती है और उस लिहाज से फांसी की सजा एकदम ठीक है।

बता दें कि ऋषि मल्होत्रा नाम के एक वकील ने कोर्ट में याचिका दायर कर फांसी को बर्बर और दर्दनाक बताते हुए उस पर रोक लगाने की मांग की थी। साथ ही उन्होंने कहा था कि मौत की सजा के लिए फांसी के बजाय कोई दूसरा विकल्प अपनाया जाए ताकि मौत के वक्त अपराधी को किसी भी तरह की पीड़ा न हो। याचिका में कहा गया है कि फांसी की सजा एक इंसान के इज्जत के साथ मौत को गले लगाने का अधिकार छीन लेती है। 

इस याचिका के खिलाफ केंद्र सरकार ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दिया और कहा कि मौत की सजा के लिए फांसी से बेहतर कोई विकल्प नहीं है। साथ ही केंद्र ने कहा कि इंजेक्शन, इलेक्ट्रिक चेयर या फिर फायरिंग, फांसी के मुकाबले ज्यादा अमानवीय और दर्दनाक है। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


IPL-12 के लिए होने वाली नीलामी में हिस्सा लेंगे 346 खिलाड़ी

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 1...

कभी नहीं सोचा था इतनी जल्दी मां की भूमिका निभाऊंगी : तन्वी डोगरा

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): पिछले साल 'जीजी मां' के साथ करियर की शुरुआत कर चुकीं अ...

top