Tuesday, December 18,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

SAARC सम्मेलन पर खतरे के बादल, बहिष्कार की घोषणा कर सकता है भारत 

Publish Date: April 25 2018 05:12:39pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : एक बार फिर से सार्क सम्मेलन पर खतरे के बादल मंडराने लगे हैं। ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि इस बार भी भारत इस सम्मेलन का बहिष्कार कर सकता है। दरअसल, इस बार का यह सम्मेलन पाकिस्तान में हो रहा है। खबर आ रही है कि भारत एक बार फिर पाकिस्तान में होने वाले सार्क सम्मेलन का बहिष्कार कर सकता है। इसके पहले भारत सितंबर 2016 में ऐसा कर चुका है और तब सार्क सम्मेलन रद्द करना पड़ा था। ऐसा हुआ तो लगातार तीसरे साल सार्क सम्मेलन का आयोजन नहीं हो पाएगा।

गौरतलब है कि 20वें दक्ष‍िण एशि‍याई क्षेत्रीय सहयोग संघ (एसएएआरसी) सम्मेलन का आयोजन पाकिस्तान में हो रहा है। सूत्रों के अनुसार, पाकिस्तान ने अभी भी अपनी जमीन पर पनपने वाले आतंकवाद पर काबू के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाए हैं। सूत्रों का कहना है कि जब तक पाकिस्तान से आने वाला आतंकवाद जारी रहता है, भारत के सार्क सम्मेलन में शामिल होने के लिए माहौल उपयुक्त नहीं रहेगा। 19वें सार्क शिखर सम्मेलन का आयोजन साल 2016 में पाकिस्तान में किया जाना था। उस सम्मेलन में भारत समेत बांग्लादेश, भूटान और अफगानिस्तान ने हिस्सा लेने से मना कर दिया था। बांग्लादेश घरेलू परिस्थितियों का हवाला देते हुए इस सम्मेलन में शामिल नहीं हुआ था, जिसके बाद ये सम्मेलन रद्द करना पड़ा था।

पाकिस्तान इस बार सभी सदस्य देशों को मनाने की कोशिश कर रहा है। यही कारण है कि पाकिस्तानी उच्चायुक्त भारत के प्रभावशाली नेताओं के साथ बैठक भी करना प्रारंभ कर दिए हैं। बीते दिन पाकिस्तानी हाई कमीशन चंडीगढ भी आया और पंजाब के नेताओं से मुलाकात कर इस मामले के लिए माहौल बनाने की कोशिश की। पाकिस्तान को डर है कि सितंबर, 2016 की तरह इस बार भी कहीं सदस्य देश इसमें शिकरत की योजना कैंसिल न कर दें और सम्मेलन को रद्द न करना पड़े। पिछले दो साल से पाकिस्तान इसका आयोजन नहीं कर पा रहा है। इसकी वजह से उस पर इस बात का काफी दबाव है कि सम्मेलन को सफल तरीके से आयोजित किया जाए।

आपको बता दें कि सार्क के फिलहाल आठ देश सदस्य हैं-अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल, मालदीव, पाकिस्तान और श्रीलंका। जम्मू-कश्मीर के उरी में 18 सितंबर, 2016 को आतंकी हमले के बाद भारत ने साल 2016 में इस सम्मेलन में शामिल न होने का निर्णय लिया था। आखिरी सार्क शिखर सम्मेलन 2014 में काठमांडू में आयोजित किया गया था। सार्क का मुख्यालय भी नेपाल की राजधानी काठमाडू में ही है। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


बेस प्राइज एक करोड़ में ही बिके युवराज सिंह, पहली बार मुंबई के लिए खेलेंगे 

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : एक समय में अपनी शानदार बल्ले...

दिलीप कुमार को धमकाने वाला बिल्डर जेल से छूटा, सायरा बानो ने पीएम मोदी से फिर मांगी मदद

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : अपने जमाने के मशहूर एक्टर दिलीप ...

top