Thursday, December 13,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

सीमा पर स्थाई शांति के लिए हॉटलाइन से जुड़ेंगे भारत और चीन

Publish Date: April 28 2018 07:18:20pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी वाले दो देश, भारत और चीन के बीच नए युग की शुरुआत हो रही है। रिपोर्ट में बताया गया है कि जल्द ही दोनों देश सीमा पर स्थाई शांति के लिए ठोस कदम उठा सकते हैं। लिहाजा जल्द ही दोनों देशों को हॉटलाइन से जोड़ दिया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के बीच भारत-चीन सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति और संयम बनाए रखने को लेकर सहमति बनी है। दोनों नेता अपनी-अपनी सेनाओं को स्ट्रैटेजिक गाइडेंस जारी करने और शांति बनाए रखने के लिए जरूरी स्ट्रैटेजिक मेकेर्निम मजबूत करने पर राजी हुए हैं।

भारत और चीन के बीच 3,488 किमी लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) है। सूत्रों के हवाले से बताया कि दोनों देशों को हॉटलाइन से कनेक्ट करने का सीनियर सैन्य नेतृत्व बेसब्री से इंतजार कर रहा है। हालांकि दोनों देश हॉटलाइन से कब जुड़ेंगे, इसको लेकर अभी विस्तार से जानकारी नहीं मिल पाई है, लेकिन पीएम मोदी के भारत पहुंचने के बाद सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा। इससे पहले भारतीय और चीनी सेना सैद्धांतिक रूप से नई दिल्ली और बीजिंग को हॉटलाइन से कनेक्ट करने पर सहमत हुए थे, लेकिन आखिरी समय में इसमें अड़ंगा लग गया था। 

हॉटलाइन से दोनों देशों के सीनियर सैन्य नेतृत्व को आपस में संपर्क स्थापित करने और एक-दूसरे को समझने में काफी मदद मिलेगी। एलएसी के साथ ही दोनों देशों के बीच पांच बॉर्डर पर्सनेल मीटिंग (बीपीएम) प्वाइंट हैं, जिनका इस्तेमाल स्थानीय कमांडर फ्लैग मार्च करने, स्थानीय समस्याओं और सीमा पर मतभेद के समाधान के लिए करते हैं। बीपीएम प्वाइंट में सब-सेक्टर नॉर्थ में देप्सांग, पूर्वी लद्दाख में सपंगुर गैप, सिक्किम में नाथूला, अरुणाचल में बुमला और किबिथू शामिल हैं।

भारत और चीन के बीच ज्यादातर सीमाओं पर विवाद है। इसकी वजह सीमा रेखा निर्धारित नहीं होना है। कई सीमावर्ती क्षेत्रों पर दोनों देशों की सेनाएं अपना-अपना दावा जताती हैं। इसके चलते कई बार सीमा पर घुसपैठ की भी घटनाएं होती हैं और सैन्य तनाव बढ़ जाता है। फरवरी में राज्य रक्षामंत्री सुभाष भामरे ने संसद को बताया था कि साल 2007 में चीनी सेना ने 426  बार घुसपैठ की। इसके अलावा पिछले साल डोकलाम में भारतीय और चीनी सेना के बीच गतिरोध देखने को मिला था। यह सैन्य गतिरोध 72 दिनों तक चला था।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


IND vs AUS: पर्थ टेस्ट के लिए 13 सदस्यीय भारतीय टीम का ऐलान, अश्विन और रोहित बाहर

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत के स्टार ऑफ स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन और बल्लेबाज रोह...

शादी के बंधन में बंधे ईशा अंबानी और आनंद पीरामल, देखें तस्वीरें

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): जाने माने बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी ने आनं...

top