Sunday, December 09,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

सावधान, आपके थाली में परोसा गया मांस कही मरे हुए जानवर का तो नहीं

Publish Date: April 29 2018 05:36:32pm

कोलकाता (उत्तम हिन्दू न्यूज) : यदि आप मांस खाते हैं तो हो जाइए सावधान। अब बाजार में ऐसी तकनीक आ गयी है कि संड़े हुए मांस को ताजा बना दिया जाता है। इसी प्रकार का एक मामला पश्चिम बंगाल में सामने आया है। दरअसल, पश्चिम बंगाल की कोलकाता पु​लिस ने गुरुवार को 20 टन सड़ा हुआ मांस जब्त किया था। पुलिस को शक है कि ये मांस मरे हुए पशुओं का है। शनिवार को पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मांस को सडऩे और बदबू से बचाने के लिए कैमिकल का इस्तेमाल किया जाता था। इस मांस को पैक करने के बाद पश्चिम बंगाल और आसपास के राज्यों में बिकने के लिए पहुंचा दिया जाता था। 

पुलिस ने इस मामले में 10 लोगों के साथ उनके सरगना को भी गिरफ्तार किया है। गिरोह का सरगना एक राजनीतिक पार्टी बताया जा रहा है। जब्त मीट के बारे में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि ये मीट मुख्य रूप से फ्रोजन फूड बेचने वाले दुकानदारों, रेस्टोरेंट और डिपार्टमेंटल स्टोरों में भेजा जाता था। कारोबारी सड़े मीट की सप्लाई पश्चिम बंगाल के अलावा पास के राज्यों झारखण्ड, ओडि़शा और बिहार में भी करते थे। पुलिस का मानना है कि इस गिरोह के लोग अन्य राज्यों में भी हो सकते हैं।

कोलकाता पुलिस, जिले के अलावा सटे हुए जिलों जैसे नादिया, दक्षिण और उत्तरी 24 परगना जिलों में भी गिरोह की गतिविधियों के सबूत तलाशने की कोशिश कर रही है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि हमें शक है कि इन कारोबारियों ने सड़े मांस की आपूर्ति अंतरराष्ट्रीय बाजारों जैसे नेपाल और बांग्लादेश में भी की जाती होगी। प्राथमिक पूछताछ के दौरान गिरफ्तार लोगों ने इस बात को स्वीकार किया है कि उन्होंने नेपाल के बाजारों में भी सड़े मांस की आपूर्ति की है लेकिन हम इस बारे में पुख्ता सूचना जुटा रहे हैं। हमारे अधिकारी नेपाल पुलिस के अधिकारियों से संपर्क में हैं।

अधिकारियों का कहना है कि आरोपी पूरे पश्चिम बंगाल से मरे हुए मवेशियों का मांस जमा करते थे। पहले मांस को फॉर्मलीन से धोया जाता था। इसके बाद मांस से चर्बी को अलग कर लिया जाता था, ताकि मांस को सडऩे से बचाया जा सके। इसके बाद मांस को सुरक्षित रखने के लिए कैल्श्यिम प्रोपानोट का इंजेक्शन लगाया जाता था। इसके बाद मांस को अल्यूमीनियम सल्फेट और लेड सल्फेट के मिश्रण में डुबोते थे ताकि सडऩे की बदबू मांस से न उठे। इसके बाद मांस को पैक करने के बाद कई बाजारों और रेस्टोरेंट में इसकी आपूर्ति कर दी जाती थी।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


एडिलेड टेस्ट : एडिलेड में 15 साल बाद जीत के करीब पहुंचा भारत

एडिलेड (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय गेंदबाजों रविचंद्रन अश्वि...

'गोपी बहू' गिरफ्तार, हीरा व्यापारी की हत्या में शामिल होने का आरोप 

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : एक हीरा व्यापारी की हत्‍या के सि...

top