Friday, December 14,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

RPF की गिरफ्त में आया रेल कर्मचारी, अवैध तरीके से टिकट बनाकर हवाई जहाज से भेजता था मुंबई

Publish Date: April 29 2018 06:08:12pm

लखनऊ (उत्तम हिन्दू न्यूज) : एक लिपिक तत्काल टिकट बनवाकर हवाई जहाज से मुंबई भेजता था और यात्रियों से मोटी रकम वसूलता था। यह लिपिक मुम्बई के रेल टिकट दलालों के साथ मिलकर तत्काल टिकट बनाने का खेल बड़ी चालाकी से खेलता था। आरपीएफ ने इस रैकेट का पर्दाफास किया है। आरपीएफ ने मोहिबुल्लापुर आरक्षण केंद्र में तैनात उक्त लिपिक को गिरफ्तार कर लिया है। उसके पास से चार यात्रियों के तत्काल टिकट बरामद किए गए हैं। 

आपको बता दें इन दिनों आरपीएफ टिकट दलालों के खिलाफ अभियान चला रही है। इस अभियान में आरपीएफ के हाथ रेल कर्मचारी ही चढ़ गया। इंस्पेक्टर आरपीएफ सिटी स्टेशन एमके खान के मुताबिक मोहिबुल्लापुर स्थित आरक्षण केन्द्र पर जांच के दौरान वहां आरक्षण लिपिक पंकज कुमार के पास से 12141 पाटलीपुत्र एक्सप्रेस में 25 अप्रैल का मुम्बई से मुगलसराय का एक तत्काल टिकट बरामद हुआ। टिकट पर 3160 रुपए की धनराशि दर्ज थी। वहीं, एक टिकट पर चार यात्रियों का आरक्षण किया गया था। टिकट पकड़े जाने के बाद आरपीएफ ने इसकी जानकारी रेलवे के उच्च अधिकारियों को दी। उच्च अधिकारियों की पूछताछ में पंकज ने बताया कि ये टिकट उसके भाई का है। यहां तक की उसने अपने भाई का आधार कार्ड भी प्रस्तुत किया। 

आरपीएफ इंस्पेक्टर एमके सिंह के अनुसार पूछताछ के दौरान ही आरपीएफ की टीम को आरक्षण लिपिक पर शक हो गया। रंगे हाथ पकडऩे के लिए आरपीएफ ने अपना जाल बिछा दिया। 25 अप्रैल को जिन चार लोगों का टिकट था वह लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस से ट्रेन में मुगलसराय आने के लिए सवार हुए। जैसे ही ट्रेन मुगलसराय पर पहुंची। लखनऊ से गई टीम इंस्पेक्टर एमके खान, उदय प्रताप सिंह, मंसफ रजा ने यात्रियों को पूछताछ के लिए पकड़ लिया। 

पूछताछ में यात्रियों ने सनसनीखेज खुलासा किया। यात्रियों ने बताया कि एक टिकट के करीब 8500 रुपए दिए है, जबकि इससे पहले भी वह टिकट बुक करा चुके हैं। आरपीएफ के मुताबिक पंकज कुमार  लखन्ऊ से टिकट बुक करके उनको हवाई जहाज से मुम्बई भेजा था। टिकट भेजने में मुम्बई के दलाल भी उसकी मदद करते थे। साथ ही यात्रियों ने बताया कि वह आरक्षण लिपिक के भाई नहीं है बल्कि उन्होंने 3160 रुपए के टिकट के 8500 रुपए दिए है। 

आरपीएफ के मुताबिक पंकज कुमार ने जांच से बचने के लिए रेल अधिकारियों को जो आधार कार्ड दिखाया था, वह फर्जी था। साथ ही मुम्बई से मुगलसराय का टिकट बनाया था उसका आरक्षण फार्म भी अपनी राइटिंग में भरा था। यही नहीं तत्काल टिकट बनाने के लिए वह फर्जी आईडी का भी इस्तेमाल करता था। रेलवे आरक्षण लिपिक पंकज कुमार के खिलाफ धारा 143 रेलवे अधिनियम के तहत मुकदमा दज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


IND vs AUS: पर्थ टेस्ट के लिए 13 सदस्यीय भारतीय टीम का ऐलान, अश्विन और रोहित बाहर

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत के स्टार ऑफ स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन और बल्लेबाज रोह...

शादी के बंधन में बंधे ईशा अंबानी और आनंद पीरामल, देखें तस्वीरें

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): जाने माने बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी ने आनं...

top