Monday, December 10,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

AIIMS ने कहा-पूरी तरह फिट हैं लालू यादव, नाराज तेजस्वी ने कहा-नाइंसाफी हुई

Publish Date: April 30 2018 03:58:30pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू यादव को जैसे ही दिल्ली के ऑल इंडिया मेडिकल इंस्टीट्यूट से नाम काट कर रांची भेजे जाने की सूचना सार्पजनिक हुई, एक बार फिर से इस मामले को लेकर सियासत शुरू हो गयी है। कहा जा रहा है कि लालू प्रसाद यादव को किडनी और दिल से जुड़ी कई बीमारियों के कारण एम्स में भर्ती कराया गया था। सोमवार को लालू यादव को अचानक एम्स से छुट्टी दे दी गई। लालू यादव को रांची अस्पताल वापस भेज दिया गया है। अचानक डिस्चार्ज किए जाने की खबर के बीच लालू व्हील चेयर से अस्पताल से बाहर निकलते नजर आए। लिहाजा एम्स के बाहर उनके समर्थकों की भीड़ लगी हुई थी। 

लालू चारा घोटाला में दोषी करार दिए जाने के बाद से रांची की जेल में बीमार चल रहे थे इसलिए उन्हें मेडिकल ग्राउंड पर रांची के अस्पताल से दिल्ली के एक्स रेफर किया गया था। जहां उनका इलाज चल रहा था। बीमार लालू से मिलने सोमवार की सुबह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पहुंचे। राहुल और लालू की करीब आधे घंटे बातचीत भी हुई, दोनों की इस मुलाकात के कई मायने लगाए ही जा रहे थे कि लालू के मेडिकल ग्राउंड पर एकबार फिर रांची भेजे जाने की खबर आई। लालू यादव ने एम्स प्रशासन को पत्र लिखकर रांची न जाने की बात कही थी।

लालू ने प्रशासन से कहा था कि उनका रांची मेडिकल कॉलेज में वह सुविधा नहीं मिलेगी जैसी एम्स में मिल रही है। उन्होंने प्रशासन से मांग की थी कि उन्हें वापस रांची न भेजा जाए। लालू ने एम्स प्रशासन को पत्र लिखा था कि उन्हें रांची न भेजा जाए क्योंकि उनका इलाज वहां संभव नहीं है। जब रांची के लिए लालू एम्स से व्हील चेयर पर बाहर निकले तो उन्होंने मीडिया से कहा कि यह मेरे साथ नाइंसाफी है। उन्होंने कहा कि मेरा स्वास्थ्य ठीक नहीं है ऐसे में मेरा रांची भेजा जाना राजनीतिक पाटिज़्यों की साजिश है। उन्होंने कहा कि मैं ऐसी जगह भेजा जा रहा हूं जहां स्वास्थ्य सुविधाएं मौजूद नहीं है। यह मेरे लिए कठिन समय है लेकिन मैं इससे भी निकल जाऊंगा। 

इसी बीच ऑल इंडिया मेडिकल साइंस ने बयान जारी कर कहा है कि लालू यादव को एम्स उनकी गंभीर बीमारियों के मैनेजमेंट के लिए भेजा गया था। अब वह बिल्कुल फिट हैं। उनकी बीमारियां नियंत्रण में हैं इसलिए उन्हें रांची मेडिकल कॉलेज वापस भेजा जा रहा है जहां उनकी पुरानी बीमारियों का इलाज संभव है। लालू यादव सोमवार शाम राजधानी ट्रेन से रांची भेजा जा रहा है। रांची भेजे जाने पर लालू के छोटे बेटे और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव नाराज हैं। उन्होंने कहा कि लालू जी को अचानक रांची रेफर किया जाना समझ में नहीं आ रहा है कि इतनी जल्दबाजी में यह निर्णय क्यों लिया गया है। लालू जी के वापस भेजे जाने के बारे में एम्स ही बता सकता है कि इसका कारण क्या है।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


भारत ने रचा इतिहास, 10 साल बाद ऑस्ट्रेलिया में पहली बार जीता टेस्ट

एडिलेड(उत्तम हिन्दू न्यूज)- विश्व की नंबर एक टीम इंडिया ने सा...

देबिना, गुरमीत वैश्विक सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभिनेता गुरमीत चौधरी और अभिनेत्री...

top