Wednesday, December 12,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

लावारिस शवों की पहचान करना होगा आसान, मोदी सरकार ला रही ऐसा बिल

Publish Date: May 01 2018 03:30:12pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): केंद्र सरकार ने आज उच्चतम न्यायालय को बताया कि वह संसद के मानसून सत्र में डीएनए प्रोफाइलिंग विधेयक पेश करेगी। केंद्र की इस जानकारी के बाद न्यायालय ने गैर-सरकारी संगठन लोकनीति फाउंडेशन की छह साल पुरानी जनहित याचिका का निपटारा कर दिया। मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने याचिका का निस्तारण करते हुए कहा कि केंद्र सरकार कानून बना रही है, इसलिए अब इस याचिका की सुनवाई की जरुरत नहीं है। पीठ ने हालांकि यह स्पष्ट किया कि याचिकाकर्ता को यदि लगता है कि भविष्य में इस विषय में उसे न्यायालय के हस्तक्षेप की जरूरत है तो वह उसका दरवाजा खटखटा सकता है।

उल्लेखनीय है कि लोकनीति फाउंडेशन द्वारा दाखिल जनहित याचिका में मांग की गई थी कि लावारिस शवों की डीएनए प्रोफाइलिंग हो, जिससे गुमशुदा लोगों से उसका मिलान कराया जा सके। याचिका में कहा गया था कि लावारिस शवों को लेकर एक वैज्ञानिक तरीका ईजाद करने की जरुरत है, जिससे शवों की पहचान हो सके। डीएनए प्रोफाइलिंग के जरिये देशभर में मिलने वाले अज्ञात शवों का डीएनए लापता लोगों के डीएनए से मिलान कराया जा सकता है, जिससे उनकी पहचान करने में आसानी हो सकती है। गौरतलब है कि इसी तरह का वायदा केंद्र सरकार 2015 में भी इसी मामले की सुनवाई के दौरान भी कर चुकी है।

Image result for deadbody

 

Image result for deadbody

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


पीवी सिंधू की धमाकेदार शुरुआत, पूर्व चैंपियन यामागुची को दी मात

गुआंगझू (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत की स्टार महिला शटलर पीवी स...

अमिताभ और सलमान भी बनेंगे कपिल शर्मा की शादी का हिस्सा, आज रात होंगी रस्में

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): मशहूर कॉमेडियन कपिल शर्मा आज प्रेमी गिन्नी संग विवाह के बंधन म...

top