Friday, December 14,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

सुप्रीम कोर्ट ने CJI के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पर अर्जी खारिज की

Publish Date: May 08 2018 12:06:15pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): चीफ जस्‍ट‍िस दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग नोटिस मामले में सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने कांग्रेस सांसदों की अर्जी को खारिज कर दिया है। संवैधानिक पीठ के फैसले के बाद महाभियोग प्रस्ताव पर दी गई अर्जी वापस ले ली गई है। इससे पहले राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने महाभियोग नोटिस खारिज कर दिया था। इसके बाद नायडू के फैसले के खिलाफ कांग्रेस के दो सांसदों ने याचिका दायर की थी।

राज्यसभा सभापति के आदेश के खिलाफ दायर याचिका को कांग्रेस सांसदों ने वापस ले लिया है। कांग्रेस के दो सांसदों कपिल सिब्बल और प्रताप सिंह बाजवा ने राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू के उस आदेश को चुनौती दी थी, जिसमें उन्होंने कांग्रेस समेत 7 विपक्षी दलों के महाभियोग प्रस्ताव को खारिज कर दिया था।

हालांकि इसके बाद विपक्षी दलों की तरफ से इस फैसले को चुनौती नहीं दी गई बल्कि पार्टी के दो सांसदों ने अपनी तरफ से इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की। सुप्रीम कोर्ट में अपील करने के बाद उन्होंने इस मामले की तत्काल सुनवाई करने की अपील की थी। मास्टर ऑफ रोस्टर होने के नाते सीजेआई ने इस याचिका की सुनवाई के लिए संवैधानिक पीठ का गठन किया था, जिसमें एक भी वरिष्ठतम जज शामिल नहीं थे। सुनवाई के दौरान सिब्बल ने कहा कि संविधान पीठ का मामला सिर्फ बेंच के रेफरेन्स आर्डर के जरिये ही सौंपा जा सकता है। उन्होंने कहा कि हम यह जानना चाहते है कि इस मामले में किस बेंच ने संविधान पीठ को सौपनें के लिए रेफर किया। सिब्बल ने कहा कि अगर यह सीजेआई के आदेश से हुआ है, तो हम इस रेफरेन्स आर्डर को चुनौती दे रहे है, एक ऐसी याचिका जो सुनवाई के लिए मंजूर तक नहीं हुई है, उसे कैसे एक प्रशासकीय आदेश से संविधान पीठ को सौंपा जा सकता है। कपिल सिब्बल ने संविधान पीठ से चीफ जस्टिस के उस प्रशासनिक आदेश की जानकारी मांगी थी, जिसके जरिये पांच जजों की बेंच का गठन किया गया। सिब्बल उस आदेश को चुनौती देना चाहते थे। जस्टिस ए के सिकरी की अध्यक्षता वाली बेंच ने इसकी जानकारी देने से इंकार किया। इसके बाद याचिका वापिस ले ली गई। 

मंगलवार को हुई इस मामले की सुनवाई करते हुई जस्टिस एके सीकरी, जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस एनवी रमण, जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस आदर्श कुमार गोयल की 5 सदस्यीय संविधान पीठ ने कांग्रेस सांसद प्रताप सिंह बाजवा की याचिका को खारिज कर दिया।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


पर्थ टेस्ट : आस्ट्रेलिया की अच्छी शुरुआत, भोजनकाल तक बनाए 66 रन 

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज): आस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम ने अच्छी शुरुआत करते हुए भारत के दूसरे ...

'सिम्बा' ब्लॉकबस्टर होगी : दीपिका

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभिनेत्री दीपिका पादुकोण का कहना है कि उनके पति रणवीर सिंह की ...

top