Wednesday, December 12,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

गरीबी दूर करने वैश्विक पहल जरूरी: उपराष्ट्रपति

Publish Date: May 11 2018 08:23:53pm

पनामा (उत्तम हिन्दू न्यूज): उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने वर्तमान विश्व में बढ़ते अलगाव पर चिंता व्यक्त की, और गरीबी तथा असमानता जैसी बुनियादी समस्याओं के समाधान के लिए सामूहिक वैश्विक प्रयास तेज करने का आह्वान किया। उन्होंने जोर देकर कहा कि भारत चाहता है कि एक नई विश्व व्यवस्था बने और कार्य देश के प्राचीन ज्ञान और मूल्यों पर आधारित हो, जो सौहार्द्रपूर्ण अस्तित्व और सार्वजनिक हित में हो। नायडू ने पनामा शहर में गुरुवार को राजनयिकों और छात्रों को संबोधित किया। उन्होंने 'इन सर्च ऑफ ए मोर रिप्रेजेंटेटिव एंड रेलिवेंट वल्र्ड ऑर्डर' विषय पर छात्रों और विभिन्न देशों के राजदूतों से बात की और वर्तमान वैश्विक चुनौतियों का समाधान करने के लिए भारत का दृष्टिकोण रखा।

नायडू ने कहा, तकनीकी और वैज्ञानिक प्रगति और ज्ञान के विस्तार ने साइबर सुरक्षा, आतंकवाद, परमाणु और रासायनिक आदि जैसी कई चुनौतियों को जन्म दिया है, जिससे मानव अस्तित्व खतरे में पड़ गया है। भ्रष्टाचार, भेदभाव, शोषण, हिंसा और बुनियादी मानवाधिकारों का उल्लंघन दुनिया भर में सामाजिक ताने-बाने को खत्म कर रहा है। शोषण की धारणा और स्थापित शासन प्रणाली की विफलता अशांति, गुस्से, विद्रोह और चरमपंथ जैसी बुराइयों की वजह है। जितना जल्दा हम इन मुद्दों पर प्रभावी ढंग से बात करेंगे, उतना ही बेहतर सामूहिकता चित्रित कर पाएंगे।

प्राचीन भारतीय ऋषि और वेदों का उद्धरण देते हुए नायडू ने कहा, भारत हमेशा प्रकृति के साथ शांतिपूर्ण और सामंजस्यपूर्ण सह-अस्तित्व में विश्वास करता है और इन मूल सिद्धांतों में वर्तमान वैश्विक चुनौतियों को सामूहिक प्रयासों के जरिए हल करने की कुंजी है। उपराष्ट्रपति ने कहा, विश्व व्यवस्था में हम चाहते हैं कि सत्ता और जिम्मेदारियां साझा की जाएंगी, विचारों और बात रखने का सम्मान किया जाएगा तथा सम्पत्ति व पृथ्वी के संसाधन साझा किए जाएंगे।  

नायडू ने जोर देकर कहा कि किसी भी देश या देशों के समूह को वैश्विक निर्णय लेने के लिए प्रभावित या नियंत्रित नहीं करना चाहिए और प्रमुख वैश्विक मुद्दों पर अधिक प्रतिनिधिक निर्णय लेने के लिए संयुक्त राष्ट्र प्रणाली में तत्काल सुधार करना चाहिए।

नायडू ने कहा भारत राष्ट्रीय हितों के लिए संतुलित प्रयास चाहता है, जो नई और बेहतर विश्व व्यवस्था का गठन करेगा। 40 देशों के राजदूतों ने नायडू से बातचीत की और केंद्र सरकार की प्रमुख पहलों और उनके कार्यान्वयन तथा तेजी से बढ़ती भारतीय अर्थव्यवस्था की सराहना की।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


पीवी सिंधू की धमाकेदार शुरुआत, पूर्व चैंपियन यामागुची को दी मात

गुआंगझू (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत की स्टार महिला शटलर पीवी स...

अमिताभ और सलमान भी बनेंगे कपिल शर्मा की शादी का हिस्सा, आज रात होंगी रस्में

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): मशहूर कॉमेडियन कपिल शर्मा आज प्रेमी गिन्नी संग विवाह के बंधन म...

top