Tuesday, December 11,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

न्यायमूर्ति ठाकुर ने कहा-शीर्ष अदालत के न्यायाधीशों को आंतरिक स्तर पर मुद्दे सुलझाने चाहिए

Publish Date: May 19 2018 08:59:36pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : पूर्व प्रधान न्यायाधीश टी.एस. ठाकुर ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के चारों वरिष्ठ न्यायाधीशों को संवाददाता सम्मेलन नहीं करना चाहिए था। उन्होंने कहा कि शीर्ष अदालत के भीतर ही मसले सुलझाए जाने चाहिए थे। पूर्व प्रधान न्यायाधीश ठाकुर ने शनिवार को एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि राष्ट्र से अपील करने से न्यायाधीशों को मदद नहीं मिलेगी और उनको संस्थागत समस्याओं का समाधान करने के लिए बाहर से मदद की अपेक्षा करने की जरूरत नहीं है। 

ठाकुर ने कहा कि संवाददाता सम्मेलन को देखकर कोई भी शीर्ष अदालत के घटनाक्रम से विक्षुब्ध हो जाएगा और अदालत की कार्य प्रणाली को सावज़्जनिक करने से मसले को लेकर फैसला लेने में असमर्थ महसूस करेगा। दिल्ली उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश कैलाश गंभीर द्वारा बनाए गए गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) 'ग्लोबल ज्यूरिस्टÓ के एक कायज़्क्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रेसवार्ता से राजनीतिज्ञों और मीडिया को मसले पर विचार-विमर्श करने का मौका मिला। 

पूवज़् प्रधान न्यायाधीश सवोज़्च्च न्यायालय के चार वरिष्ठ न्यायाधीशों न्यायमूर्ति जे. चेलमेश्वर, न्यायमूर्ति रंजन गोगई, न्यायमूर्ति एम.बी. लोकुर और न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ द्वारा 12 जनवरी को आयोजित प्रेसवार्ता के संदर्भ में बोल रहे थे। चारों वरिष्ठ न्यायाधीशों ने प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ कहा था कि सर्वोच्च न्यायालय के प्रशासनिक कार्य में सबकुछ सुचारु ढंग से नहीं चल रहा है।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


आईसीसी टेस्ट रैंकिंग : विराट कोहली शीर्ष पर बरकरार, पुजारा चौथे नंबर पर

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): आस्ट्रेलियाई जमीन पर अपनी अगु...

कल प्रेमिका गिन्नी के साथ शादी रचाएंगे कपिल शर्मा, सामने आई प्री-वेडिंग की तस्वीरें

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): हास्य अभिनेता-निर्माता कपिल शर्मा कल यानी 12 दिसंबर को अपनी प्...

top