Monday, December 10,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

जीतन राम मांझी का बड़ा बयान, कहा-आरक्षण का आधार जाति नहीं, गरीबी बनें

Publish Date: May 20 2018 08:04:17pm

नयी दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेक्युलर) के अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने रविवार को कहा कि देश में आरक्षण का आधार जाति और समुदाय नहीं बल्कि गरीबी को बनाया जाना चाहिए। माझी ने अनुसूचित जाति एवं जनजाति के अधिकारों को लेकर यहां संसद मार्ग पर आयोजित धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए कहा कि देश में जब तक गरीबी का उन्मूलन नहीं होता है तब तक विकास की बात करना बेइमानी है। उन्होंने कहा कि समाज के सभी वर्गों में गरीब को इज्जत से जीने का हक मिले इसके लिए सवर्णों को भी आरक्षण के दायरे में लाया जाना चाहिए।

उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार दलितों और आदिवासियों को संविधान में दिए गए अधिकारों को एक साजिश के तहत कमजोर कर रही है। दलितों के प्रति केंद्र सरकार के रवैये को नकारात्मक बताते हुए उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में दलितों की हत्याएं हो रही हैं और इस समुदाय की महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ रही हैं लेकिन केंद्र सरकार इस बारे में कोई कदम नहीं उठा रही है।
पूर्व मुख्यमंत्री ने देश में समान शिक्षा प्रणाली लागू करने की मांग की और कहा कि दुनिया के अन्य देशों की तर्ज पर जब तक पूरे देश में समान शिक्षा व्यवस्था लागू नहीं की जाती है तब तक गरीबों का भला नहीं हो सकता है और ना ही देश का समग्र विकास हो सकता है।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


ऋषभ पंत ने रचा इतिहास, ये कारनामा करने वाले पहले विदेशी विकेटकीपर बने 

एडिलेड (उत्तम हिन्दू न्यूज): एडिलेड ओवल मैदान पर जहां एक ओर भ...

'मर्दानी 2' में नजर आएंगी रानी मुखर्जी

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभिनेत्री रानी मुखर्जी फिल्म '...

top