Friday, December 14,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

भूस्खलन से दो की मौत, अगरतला में भी बाढ़ की आशंका

Publish Date: May 20 2018 08:44:48pm

अगरतला (उत्तम हिन्दू न्यूज) : त्रिपुरा में आज सुबह हुए भूस्खलन में दो लोगों की मौत हो गयी जबकि दो परिवारों के तीन लोग घायल हो गये। रिपोर्ट के अनुसार भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन में मैरी कैपेंग नामक 17 साल की एक लडकी की मौत हो गयी। यह घटना गोमती जिले के अमरपुर के तैदू अंतगज़्त ढेनलेखा कैनेंगपारा क्षेत्र में हुई। पुलिस ने बताया कि मैरी नामक एक लडकी अपने पिता सुब्रैलेन कइपेंग (45) और मां त्रिपुरीहोई कईपेंग (40) के साथ कच्चे मकान में सो रही थी तभी यह हादसा हुआ। उनका मकान रात में लगातार भारी बारिश के कारण मकान ढह गया।

एक अन्य घटना में, पश्चिम त्रिपुरा के झिरानिया के चम्पाबारी में मूसलाधार बारिश में गृहिणी बिशुहम रूपिनी और उनका पति उस समय घायल हो गये, जब उनका घर ढह गया। राज्य सरकार ने मृतकों के परिजनों को पांच लाख रुपये सहायता राशि देने की घोषणा की है। सरकार की ओर से घायलों को 50,000 रुपये और ढहे घर के एवज में 95,000 रुपये देने की घोषणा की गयी है। त्रिपुरा में मानसून-पूवज़् बारिश में दो लोगों के मारे जाने से आंधी-तूफान में मरने वालों की संख्या बढकर 14 हो गयी है। बारिश और तूफान में अब तक 24 लोग घायल हुए हैं। राज्य सरकार ने प्रत्येक मृतक के आश्रितों को पांच-पांच लाख रुपये देने का एलान किया है।

पश्चिम त्रिपुरा के अथरमूरा और बारामूरा पहाडियों पर आज सुबह भारी बारिश के बाद बाढ आ गयी। इसके अलावा राष्ट्रीय राजमार्ग और रेल पटरियां कई जगहों पर बाढ़ के पानी में डूब गयीं। इससे अगरतला को जोडने वाले संपर्क मार्ग पर यातायात में रुकावटें आयीं। अगरतला में प्रशासन ने शहर के विभिन्न स्थान पर 12 राहत शिविर लगाये हैं। इन शिविरों में बेघर करीब 5,000 परिवारों को पनाह दी गयी है। अब तक 550 से ज्यादा परिवारों को बचाया गया है। क्षेत्र में अलर्ट जारी है जबकि वहां हावड़ा नदी खतरे के निशान को छू रही है। प्रशासनिक अधिकारियों ने वर्षा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और भविष्य में बाढ की रोकथाम के उपायों का आकलन किया।

मौसम विभाग के क्षेत्रीय कायाज़्लय ने अगले चौबीस घंटे के दौरान भारी बारिश होने की एहतियाती चेतावनी जारी की है। पिछली रात रह-रहकर बारिश होती रही, जो रातभर जारी रही। इससे हावड़ा नदी के आसपास के इलाके पानी से लबालब भर गये, जबकि अधिकांश क्षेत्र में बाढ का पानी घुस आया है। मौसम विभाग ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में उमस के असर के कारण दिनभर शहर में मध्यम से भारी बारिश होगी। राष्ट्रीय आपदा राहत बल, आपदा प्रबंधन की टीमें और स्थानीय स्वयंसेवकों की टोली उच्च सतर्कता पर हैं। हावड़ा नदी के आसपास के सभी क्षेत्रों में राहत अभियान लगातार चल रहा है। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


अंतर-राष्ट्रीय खिलाडी सचिन रत्ती और उनके भाई गगन रत्ती ने कोच जयदीप कोहली के खिलाफ दी पुलिस कंप्लेंट 

सोशल मीडिया पर परिवार को बदनाम करने का लगाया आरोप, अगर मुझे और मेरी पत...

सामने आया नीता अंबानी का 33 साल पुराना Bridal Look, आप भी देखें तस्वीरें

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): 12 दिंसबर को देश के मशहूर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अ...

top