Friday, December 14,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

सीतापुर : आदमखोर कुत्तों की होगी जेनेटिक जांच

Publish Date: May 23 2018 01:53:12pm

सीतापुर (उत्तम हिन्दू न्यूज) : उत्तर प्रदेश (यूपी) के सीतापुर में आदमखोर कुत्तों का खौफ रुकने का नाम नहीं ले रहा है। इस बात को लेकर न केवल प्रशासन परेशान है अपितु जन्तु विज्ञान विभाग के वैज्ञानिक भी हतप्रभ हैं। अब इस मामले को लेकर कुत्तों के जेनेटिक जांच की व्यवस्था की जा रही है। इस जांच के माध्यम से पता लगाया जाएगा कि आखिर कुत्ते आदमखोर क्यों हुए। बीते मंगलवार को फिर से कुत्तों के झुंड ने एक 10 साल के बच्चे पर हमला कर उसे घायल कर दिया। मामले की गंभीरता को देखते हुए वाइल्डलाइफ  इंस्टिट्यूट ऑफ  इंडिया (डब्लूआईआई) ने कुत्तों की जेनेटिक (आनुवांशिक) जांच कराने का फैसला किया है।  

सिटी मजिस्ट्रेट हर्ष देव पांडेय ने कहा कि मंगलवार को हरगांव पुलिस स्टेशन एरिया के अकबरपुर गांव में सत्यम पांडेय नामक बच्चे पर कुत्तों के झुंड ने हमला कर दिया। वह शाम के वक्त आम के बगीचे में गया हुआ था, जब यह हादसा हुआ। बच्चे के हाथों और पीठ के निचले हिस्से पर गंभीर चोट आई है। हॉस्पिटल में उसका इलाज चल रहा है। डीएम शीतल वमाज़् ने कहा कि वाइल्डलाइफ  इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया की टीम कुछ दिनों पहले सीतापुर आई थी। टीम ने कुत्तों के आतंक पर विस्तृत अध्ययन किया। इस अध्ययन के बाद उन्होंने निष्कर्ष निकाला कि कुत्ते ही बच्चों पर हमला कर रहे हैं। 

पिछले हफ्ते हुए एक हमले के बाद पहली बार प्रत्यक्षदर्शियों ने यह स्पष्ट किया है कि हमलावर कुत्ते ही हैं। 6 से 8 कुत्तों के इस झुंड में दो कुत्ते भूरे-सफेद चित्तीदार थे और बाकी काले रंग के थे। प्रत्यदर्शियों ने यह भी बताया गया है कि ये कुत्ते सामान्य कुत्तों से काफी तेज भागते हैं। बता दें कि सीतापुर में आदमखोर कुत्तों का खौफ जारी है। कुत्तों के हमले से सीतापुर में अब तक 14 बच्चों की मौत हो चुकी है, जबकि 51 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। इस घटना को लेकर कुछ लोगों का कहना था कि बच्चों पर हमला करने वाले कुत्ते नहीं बल्कि कोई और जानवर हो सकता है, लेकिन जिला प्रशासन और प्रत्यक्षदर्शियों का दावा है कि हमला करने वाले कुत्ते ही हैं। 

डीएम शीतल वर्मा ने बताया कि जिला प्रशासन ने एक हेल्पलाइन जारी की है। अगर किसी को भी आदमखोर कुत्तों का झुंड नजर आता है तो उन्हें 9454417445 नंबर पर तत्काल सूचना देने को कहा गया है। यह हेल्पलाइन नंबर 24 घंटे सक्रिय रहेगा। जिला प्रशासन ने प्रमुख सचिव शहरी विकास विभाग से कहा है कि इन जंगली कुत्तों को पकडऩे के लिए ट्रेनिंग सेंटर शुरू किया जाए। 164 टीमें बनाई गई हैं जो गांव-गांव जाकर लोगों को जागरुक कर रही हैं। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


Ind vs Aus: पहले दिन ऑस्ट्रेलिया ने बनाए 277/6 रन, तीन बल्लेबाजों ने लगाए अर्धशतक

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज): दूसरे और तीसरे सत्र में तीन-तीन विकेट गंवाने के बावजूद आस्ट्रेल...

सामने आया नीता अंबानी का 33 साल पुराना Bridal Look, आप भी देखें तस्वीरें

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): 12 दिंसबर को देश के मशहूर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अ...

top