Tuesday, December 18,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

पुलिस बल के लिए नियमित प्रशिक्षण जरूरी : राजनाथ

Publish Date: May 31 2018 06:39:33pm

भोपाल (उत्तम हिन्दू न्यूज): मध्यप्रदेश पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यहां गुरुवार को कहा कि 'क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम' के प्रमुख अंग न्याय, पुलिस और अभियोजन का औपचारिक प्रशिक्षण जरूरी है। इस दिशा में पहल की जानी चाहिए। हर स्तर का पुलिस बल दक्ष और प्रभावी हो, इसके लिए नियमित प्रशिक्षण की जरूरत है। राजनाथ ने केंद्रीय पुलिस प्रशिक्षण अकादमी का उद्घाटन करने के बाद कहा, "पुलिसकर्मी को सेवा अवधि के दौरान पांच-पांच वर्ष के अंतराल पर प्रशिक्षण मिले। प्रशिक्षण की इस व्यवस्था के लिए करीब दस हजार प्रशिक्षकों की जरूरत का आकलन किया गया है। ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट को इस दिशा में पहल के लिए कहा गया है।" केंद्रीय मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्मार्ट पुलिस निर्माण के प्रयासों में ब्यूरो की भूमिका बताते हुए कहा कि तकनीक का अधिकतम उपयोग किया जाना चाहिए। अकादमी के पूर्णत: तकनीकी आधारित होने, फाइलों का ऑनलाइन मूवमेंट, जीरो वेस्ट और ट्रीटेड सीवेज वॉटर से सिंचाई का प्रयास सराहनीय है। 

उन्होंने संस्थान में व्यापक पौधरोपण की जरूरत बताई और इस काम में राज्य सरकार से सहयोग का अनुरोध किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आंतरिक सुरक्षा की आधुनिक चुनौतियों से निपटने के लिए पुलिस का नियमित प्रशिक्षण जरूरी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में आगामी अगस्त माह में पौधरोपण अभियान चलाया जाएगा। राज्य पुलिस द्वारा 15 अगस्त को अकादमी में पौधरोपण किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि संस्थान के प्रदेश में स्थित होने का लाभ राज्य के पुलिस बल को भी मिलेगा। हॉक पुलिस बल का प्रशिक्षण इस संस्थान में होगा। उन्होंने कहा कि देश में नक्सलवादी, आतंकवादी और राष्ट्रविरोधी शक्तियों से ताकत के साथ निपटने के लिए संचालित अभियान की सफलताएं दिख रही हैं। 

समारोह में अकादमी की परिकल्पना से व्यावहारिक रूप में सामने आने के विभिन्न चरण पर आधारित वृत्तचित्र का प्रदर्शन किया गया। अकादमी 401 एकड़ भू-भाग में फैली है। अकादमी के भवन निर्माण पर 187 और मशीन एवं संसाधनों पर 37 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। शुरुआत में केंद्रीय गृहमंत्री और मुख्यमंत्री ने पूजन-अर्चन कर परिसर का अवलोकन किया। अतिथियों को पुस्तक और स्मृति-चिन्ह भेंट किए गए। समारोह में राज्य के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर, सांसद आलोक संजर, विधायक रामेश्वर शर्मा, पुलिस महानिदेशक आर.के. शुक्ला और ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट के महानिदेशक ए.पी. महेश्वरी भी मौजूद थे। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


आईपीएल 12 की पहली बिक्री, 2 करोड़ में बिके हनुमा बिहारी

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): आईपीएल 12 में खिलाडिय़ों की नीलामी शुरू हो गई है। भारतीय खिलाड...

ये थी श्रीदेवी की आखिरी इच्छा. पति बोनी कपूर करेंगे पूरी

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): बॉलीवुड फिल्मकार बोनी कपूर अपनी प...

top