Wednesday, December 12,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

भाजपा के लिए बुरी खबर, JDU और LJP के बीच टकराव   

Publish Date: June 05 2018 05:58:54pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : सत्तारूढ राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के लिए बिहार से बुरी खबर आ रही है। वहां गठबंधन के दो घटक दलों ने एक दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। जहां एक ओर गठबंधन के घटक जनता दल (यूनाइटेड)(जेडीयू) ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को गठबंधन का नेता घोषित कर दिया है वहीं दूसरी ओर लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) ने नीतीश कुमार को गठबंधन का नेता मानने से इनकार कर दिया है। ऐसी परिस्थिति में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लिए अब दोनों को साध पाना कठिन हो गया है। 

जैसे-जैसे 2019 का लोकसभा चुनाव नजदीक आता जा रहा है, एनडीए में शामिल बीजेपी के सहयोगी दल सीटों के बंटवारे को लेकर अपनी रणनीति तैयार करने में जुट गए हैं। हाल के कुछ उपचुनावों में बीजेपी की हार से विपक्ष ही नहीं सहयोगियों को भी सौदेबाजी करने का मौका नजर आने लगा है। यही वजह है कि गुरुवार को होनेवाली एनडीए की अहम बैठक से पहले ही जेडीयू ने ऐलान कर दिया कि बिहार में नीतीश कुमार एनडीए का चेहरा होंगे। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि नरेंद्र मोदी के चेहरे को आगे कर 2014 का चुनाव लडऩे वाली बीजेपी क्या जेडीयू के इस ऑफर को स्वीकार करेगी। 

यह सवाल इसलिए भी महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि एनडीए में शामिल बिहार की एक और प्रमुख लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) ने मंगलवार को साफ कर दिया कि अगले लोकसभा चुनाव में बिहार में नीतीश कुमार नहीं बल्कि नरेंद्र मोदी एनडीए का चेहरा होंगे। एलजेपी के इस तरह नीतीश के खिलाफ मुखर होने से एक बात तो तय है कि 40 लोकसभा सीटों वाले बिहार में जेडीयू को साधना बीजेपी के लिए आसान नहीं होगा। आपको बता दें कि जेडीयू बिहार में बिग ब्रदर की भूमिका चाहती है। माना जा रहा है कि पहले से दावा ठोककर पार्टी ज्यादा से ज्यादा सीटें अपने पास रखने की रणनीति पर काम कर रही है। 

लोक जनशक्ति पार्टी के सांसद चिराग पासवान ने कहा कि 2019 में एनडीए बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नहीं बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे को आगे कर चुनाव लड़ेगी। इससे 2 दिन पहले ही जेडीयू के नेताओं पवन वमाज़् और केसी त्यागी ने दावा किया था कि बिहार में अगले साल नीतीश कुमार एनडीए की अगुआई करेंगे। हालांकि मंगलवार को केंद्रीय मंत्री और एलजेपी के अध्यक्ष राम विलास पासवान के बेटे चिराग पासवान ने ऐसी संभावना को सिरे से खारिज कर दिया। 

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन (एलजेपी)अगला लोकसभा चुनाव मोदी के नेतृत्व में ही लड़ेगा और मोदी के नाम पर ही जनता से वोट मांगेगा। उन्होंने मीडिया से कहा कि लोकसभा चुनाव सीधे तौर पर मोदी के नाम पर लड़ा जाएगा, इसमें कोई संदेह नहीं है। 


 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


पीवी सिंधू की धमाकेदार शुरुआत, पूर्व चैंपियन यामागुची को दी मात

गुआंगझू (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत की स्टार महिला शटलर पीवी स...

MeToo: साजिद खान को IFTDA का बड़ा झटका, 1 साल के लिए किया सस्पेंड

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): यौन उत्पीड़न के आरोप से घिरे सा...

top