Wednesday, December 12,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

राष्ट्रपति भवन में नहीं होगी इफ्तार पार्टी, सभी धार्मिक आयोजन बंद

Publish Date: June 06 2018 08:44:25pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : अब राष्ट्रपति भवन में किसी भी धर्म से जुड़े कार्यक्रमों का आयोजन नहीं होगा। राष्ट्रपति भवन की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में इस बात की जानकारी दी गयी है। मसलन इस बार राष्ट्रपति भवन में इफ्तार पार्टी का आयोजन नहीं होगा। साथ ही देश के करदाताओं के पैसे से किसी भी धर्म का त्योहार नहीं मनाया जाएगा। जानकारी के मुताबिक इस कदम से यह संदेश देने की कोशिश की गई है कि राष्ट्रपति भवन पूरे देश के लिए धर्मनिरपेक्ष भाव रखता है, इसलिए इसमें धर्म विशेष से जुड़े किसी भी आयोजन को मंजूरी नहीं दी जाएगी। फिर चाहे वह इफ्तार पार्टी हो या किसी अन्य धर्म या समुदाय से जुड़ा कोई दूसरा कार्यक्रम।

राष्ट्रपति भवन के इस फैसले के बाद देश की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने इसपर चुप्पी साध ली है। कांग्रेस ने कहा कि ये राष्ट्रपति का फैसला है। इसलिए हम इसपर कोई भी बयान नहीं देंगे। कांग्रेस ने कहा है कि राष्ट्रपति के फैसले पर सवाल उठाना सही नहीं है। बता दें कि इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के कार्यकाल में दिसंबर में राष्ट्रपति भवन में क्रिसमस के दौरान कैरल सिंगिंग और दिवाली का आयोजन भी नहीं हुआ था। इससे साफ है कि रामनाथ कोविंद के राष्ट्रपति रहते राष्ट्रपति भवन में किसी भी धर्म का त्योहार नहीं मनाया जाएगा। 

आपको बता दें कि पूर्व में राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम ने भी अपने कार्यकाल के दौरान इफ्तार पार्टियों पर रोक लगा दी थी। वर्ष 2002 से 2007 के बीच राष्ट्रपति भवन में इफ्तार की दावतें नहीं दी गई। दरअसल, राष्ट्रपति कलाम इफ्तार की दावत पर होने वाले खर्च को निर्धन, बेसहारा बच्चों की शिक्षा के लिए दान कर देते थे। हालांकि कलाम के कार्यकाल में क्रिसमस के दौरान कैरल सिंगिंग हुई थी। कलाम के बाद राष्ट्रपति की कुर्सी पर बैठने वालीं प्रतिभा पाटिल ने फिर राष्ट्रपति भवन में इफ्तार पार्टी के आयोजन को बहाल किया, जिसको पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी जारी रखा था।  

2017 से पहले सिर्फ एक बार साल 2008 में कैरल सिंगिंग का आयोजन नहीं हुआ। मुंबई हमले में मारे गए लोगों की श्रद्धांजलि में साल 2008 में पाटिल ने राष्ट्रपति भवन में कैरल सिंगिग का आयोजन नहीं कराया था, लेकिन राष्ट्रपति भवन ने इस दौरान दिल्ली में बेसहारा लोगों के लिए खाना भिजवाया गया था। राष्ट्रपति भवन में क्रिसमस, इफ्तार पार्टी के अलावा दिवाली, रक्षबंधन और होली जैसे त्योहार मनाए जाते रहे हैं। सभी त्योहारों में लोग राष्ट्रपति भवन जाते हैं और राष्ट्रपति को बधाई देते हैं। बता दें कि राष्ट्रपति भवन में क्रिसमस के दौरान कैरल सिंगिंग और रमजान के दौरान इफ्तार पार्टी का आयोजन बरसों से चला आ रहा है। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


पीवी सिंधू की धमाकेदार शुरुआत, पूर्व चैंपियन यामागुची को दी मात

गुआंगझू (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत की स्टार महिला शटलर पीवी स...

Kapil Sharma Wedding: बारात लेकर कपिल शर्मा पहुंचे क्लब कबाना

जालंधर (उत्तम हिन्दू न्यूज): कॉमेडियन कपिल शर्मा गिन्नी संग विवाह रचाने के लिए बारात के सा...

top