Sunday, December 16,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

गुजरात में गिद्धों की गिनती का काम शुरू

Publish Date: June 09 2018 04:26:18pm

गांधीनगर (उत्तम हिन्दू न्यूज): देश में गिद्धों की तेजी से घट रही संख्या के बीच आज से गुजरात में इन लुप्तप्राय विशाल पक्षियों की द्विवार्षिक गणना का काम शुरू हुआ।

राज्य के वन विभाग की ओर से इस काम के लिए नोडल एजेंसी बनाये गये गुजरात इकोलॉजिकल एजुकेशन एंड रिसर्च फाउंडेशन (गिर फाउंडेशन) के निदेशक आर डी कंबोज ने यूनीवार्ता को बताया कि इस काम के लिए सभी 33 जिलों में 300 से अधिक वनकर्मी और पक्षी विशेषज्ञ स्वयंसेवक लगाये गए हैं। वे गिद्धों के रात्रि निवास के स्थानों और मृत पशुओं के ढेर रखे जाने वाले स्थानों पर इनकी गिनती करेंगे। 

गणना/आंकलन के दौरान राज्य में दिखने वाली कुल सात प्रजातियों में से सफेद पीठ गिद्ध समेत चार निवासी प्रजातियों को ही शामिल किया जायेगा। तीन अन्य प्रजातियां बाहर से आती और चली जाती हैं और उन्हें इस गणना में शामिल नहीं किया जा रहा है। कल गणना पूरी होने के बाद अंतिम परिणाम का आंकलन करने में एक से दो माह का समय लगेगा। अंतिम संख्या की घोषणा वन मंत्री करेंगे।

कंबोज ने बताया कि 2016 की पिछली गणना के दौरान राज्य में मात्र कुल 999 ऐसे गिद्ध ही पाये गये थे। इनमें से सर्वाधिक 152 जूनागढ़ में थे। आठ से दस जिले ऐसे भी थे जिनमें एक भी गिद्ध नहीं था। उन्होंने बताया कि 1980 के दशक के मध्य तक गिद्ध प्रचुर संख्या में थे, पर इसके बाद के लगभग एक दशक में उनकी आबादी 95 प्रतिशत तक घट गयी और वे लुप्तप्राय हो गये। इसका सबसे बड़ा कारण पशुओं को दी जाने वाली दवा डायक्लोफेनाक थी। उनके मृत शरीर में मौजद इस दवा के कारण इन्हें खाने से गिद्ध बड़ी संख्या में गुर्दे की खराबी से मर गये थे।

पाकिस्तान में हुए एक अध्ययन से यह खुलासा हुआ। हालांकि 2003-04 में यह दवा प्रतिबंधित कर दी गयी पर दुर्भाग्य से अब तक यह दवा चोरी छिपे इस्तेमाल हो रही है। गिद्धों के लुप्तप्राय होने का एक और कारण उनके प्राक़तिक निवास के स्थलों में आयी कमी भी है। 2005 में गुजरात की गणना के दौरान कुल 2647, 2007 में 1431, 2012 में 1014 गिद्ध ही पाये गये थे। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


Aus vs Ind: विराट कोहली ने रचा इतिहास, 25वां टेस्ट शतक जड़ तेंदुलकर को पीछे छोड़ा

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय कप्तान विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 25 शतक बना...

#MeToo की चिंगारी भड़काने वाली तनुश्री लौटेंगी अमेरिका, अपने बारे में किया बड़ा खुलासा 

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : भारत में मीटू की चिंगारी भड़काने...

top