Thursday, December 13,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

मशहूर संत भैय्यूजी महाराज ने मारी खुद को गोली, मौत

Publish Date: June 12 2018 03:11:45pm

इंदौर (उत्तम हिन्दू न्यूज): प्रसिद्ध संत भैय्यू जी महाराज ने आज खुद को गोली मार ली, जिसके बाद उन्हें गंभीर हालत में इंदौर के बॉम्बे अस्पताल में भर्ती करवाया गया ,जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। इस दौरान अस्पताल के बाहर उनके समर्थकों व परिचितों का भारी जमावड़ा लग गया है। भारी संख्या में पुलिस बल भी उनके घर और अस्पताल के बाहर तैनात कर दिया गया है।

जानकारी के अनुसार, भैय्यू महाराज ने मंगलवार दोपहर को सिल्वर स्प्रिंग स्थित अपने बंगले की दूसरी मंजिल पर खुद को गोली मार ली। बताया जा रहा है कि तीन दिनों से पारिवारिक विवाद की वजह से वह काफी परेशान थे। इस वजह से डिप्रेशन के चलते उन्होंने खुद को गोली मार ली।

डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्रा ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि उन्होंने अपनी दाईं कनपटी पर गोली चलाई। उनका शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। इसी बीच फॉरेंसिक विशेषज्ञों का दल भय्यू महाराज के घर पहुंच कर जांच में जुट गया है। भैय्यू महाराज ने मॉडलिंग की दुनिया से अपना करियर शुरू किया था और उसके बाद अध्यात्म के सफर पर चलना तय किया। उनके अनुयायियों में लता मंगेशकर से लेकर कई अन्य जानी मानी हस्तियां शामिल हैं। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत, प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल सहित कई बड़ी हस्तियाँ उनके आश्रम में उनसे मिलने आ चुकी है। भैय्यू जी महाराज 2011 में तब चर्चा में आए थे जब सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे के अनशन को खत्म करवाने के लिए तत्कालीन केंद्र सरकार ने उन्हें अपना दूत बनाकर भेजा था। भैय्यू महाराज ने पहली पत्नी के निधन के बाद 2016 में ग्वालियर की एक डॉक्टर से दूसरी शादी की थी। उन्हें पिछले दिनों मध्यप्रदेश सरकार ने पर्यावरण संरक्षण के लिए राज्यमंत्री का दर्जा दिया था।

बता दें कि शिवराज सरकार द्वारा मध्यप्रदेश में जिन पांच संतों को राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया था, भैय्यूजी महाराज उनमें से एक हैं। हालांकि उन्होंने उसे ठुकरा दिया था। इसी के साथ यह भी उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय संत भैय्यू महाराज पर करीब 2 साल पहले जानलेवा हमला भी हुआ था।

जिक्रयोग है कि भय्यूजी महाराज को राजनीतिक रूप से ताकतवर संतों में गिना जाता था। उनका असली नाम उदयसिंह देशमुख है और उनके पिता महाराष्ट्र में कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे हैं। उनका नाम तब चर्चा में आया था, जब भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के दौरान भूख हड़ताल पर बैठे अन्ना हजारे को मनाने के लिए यूपीए सरकार ने उनसे संपर्क किया था।

 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


IND vs AUS: पर्थ टेस्ट के लिए 13 सदस्यीय भारतीय टीम का ऐलान, अश्विन और रोहित बाहर

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत के स्टार ऑफ स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन और बल्लेबाज रोह...

शादी के बंधन में बंधे ईशा अंबानी और आनंद पीरामल, देखें तस्वीरें

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): जाने माने बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी ने आनं...

top