Sunday, December 16,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

लंकेश हत्या के संदिग्धों के पास से मिली डायरी, हिट लिस्ट में थे गिरीश कनार्ड 

Publish Date: June 14 2018 04:51:50pm

बेंगलुरु (उत्तम हिन्दू न्यूज) : कन्नड़ पत्रकार गौरी लंकेश के संदिग्ध हत्यारों के हिट लिस्ट में चर्चित रंगकर्मी गिरीश कनार्ड भी थे। कर्नाटक सराकर के द्वारा गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) यह संनसनी खुलासा किया है। एसआईटी ने संदिग्धों के पास से एक डायरी बरामद की है जिसमें फिल्मकार गिरीश कर्नाड के अलावा ज्ञानपीठ पुरस्कार विजेता साहित्यकार बीटी ललिता नाइक, निदुमामिडी मठ के प्रमुख वीरभद्र चन्नामल्ला स्वामी और तर्कवादी सीएस द्वारकानाथ के नाम शामिल हैं। हालांकि एसआईटी ने यह भी कहा कि अभी तक की पूछताछ और विवेचना में वाधमारे के खिलाफ कोई खास सबूत नहीं मिला है जिसके आधार पर उसे लंकेश हत्या का अभियुक्त घोषित किया जा सके। 

गौरी लंकेश हत्याकांड की जांच कर रही एसआईटी के सूत्रों ने बुधवार को कहा कि सूची में कर्नाड के अलावा ज्ञानपीठ पुरस्कार विजेता नेता और साहित्यकार बीटी ललिता नाइक, निदुमामिडी मठ के प्रमुख वीरभद्र चन्नामल्ला स्वामी और तर्कवादी सीएस द्वारकानाथ शामिल थे। हालांकि एसआईटी ने अभी तक यह नहीं बताया है कि आखिर किस कारण उस डायरी में इन लोगों का दर्ज किया गया है लेकिन जो अंदाज लगाए जा रहे हैं उसमें हत्या की साजिश को ही महत्व दिया जा रहा है। 

विशेष जांच दल (एसआईटी) को संदिग्धों के पास से एक डायरी बरामद हुई है जिसमें हिंदी भाषा में नाम दर्ज हैं। सूत्रों ने बताया कि डायरी में उन हस्तियों के नाम दर्ज हैं जिन्हें निशाना बनाया जाना था। ये लोग कट्टरपंथी हिंदुत्व के खिलाफ कठोर नज़रिये के लिए चर्चित हैं। एसआईटी ने मंगलवार को कहा था कि उसने कर्नाटक के विजयपुरा जिले के सिंधागी से 26 साल के परशुराम वाघमारे को गिरफ्तार किया है लेकिन साजिश में उसकी भूमिका और अन्य जानकारियों का खुलासा बाद में किया जाएगा।

अटकलें हैं कि वाघमारे गौरी का हत्यारा हो सकता है क्योंकि उसकी शारीरिक बनावट गौरी के घर से बरामद उनकी हत्या से संबंधित सीसीटीवी फुटेज में दिखने वाले व्यक्ति से मेल खाती है। एसआईटी का दावा है कि वाघमारे का संबंध हिंदू दक्षिणपंथी संगठनों से है। एसआईटी के आधिकारिक प्रवक्ता के अनुसार, बाघमारे को तीसरे अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया। अदालत ने आगे की पूछताछ के लिए संदिग्ध को 14 दिन की एसआईटी हिरासत में भेज दिया है। 

एसआईटी प्रमुख और पुलिस महानिरीक्षक बीके सिंह ने बताया कि जांच में अभी तक ऐसी कोई बात सामने नहीं आई है जिससे यह संकेत मिले कि लंकेश को गोली वाघमारे ने मारी थी। वाघमारे के हत्यारा होने संबंधी अटकलों के बीच अधिकारी ने कहा, नहीं, हमारी जांच में यह बात सामने नहीं आई है। गौरी लंकेश हत्याकांड के सिलसिले में गिरफ्तार होने वाला वाघमारे छठा संदिग्ध है। पांच सितंबर, 2017 को घर के पास ही कन्नड़ पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकत्र्ता लंकेश को गोली मार दी गई थी। उन्हें हिंदुत्व के खिलाफ आलोचनात्मक रुख रखने के लिए जाना जाता था। 


 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


Aus vs Ind: विराट कोहली ने रचा इतिहास, 25वां टेस्ट शतक जड़ तेंदुलकर को पीछे छोड़ा

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय कप्तान विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 25 शतक बना...

#MeToo की चिंगारी भड़काने वाली तनुश्री लौटेंगी अमेरिका, अपने बारे में किया बड़ा खुलासा 

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : भारत में मीटू की चिंगारी भड़काने...

top