Friday, December 14,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

मोदी सरकार को झटका, मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यम ने दिया इस्तीफा

Publish Date: June 20 2018 02:58:06pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यम जल्द अमेरिका लौटने वाले हैं। लिहाजा उन्होंने इस्तीफा दे दिया है। इस मामले में उनकी सरकार के साथ बात चल रही थी और आज उन्होंने अपना इस्तीफा दे दिया। इससे पहले नीति आयोग के उपाध्‍यक्ष अरविंद पनगढिय़ा भी अपने पद से इस्तीफा देकर अमेरिका जा चुके हैं। जानकारी में रहे कि विगत दिनों खबर यह भी आयी थी कि अरविंद सुब्रमण्यम की सरकार के साथ नहीं बन रही है और वे जल्द ही अमेरिका वापस जा सकते हैं। 

दरअसल, आज एक फेसबुक पोस्ट में अरुण जेटली ने मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यम पर टिप्पणी करते हुए कहा कि उनकी परिवार प्रतिबद्धताएं हैं। इसलिए मैं इस मामले में कुछ भी नहीं कह सकता हूं। उन्होंने जब संयुक्त राज्य अमेरिका वापस जाने का निर्णय ले लिया है तो इस मामले में सुब्रमण्यम को रोका नहीं जा सकता है और मेरे पास कोई दूसरा विकल्प भी नहीं है। 

डॉ. अरविंद सुब्रमण्यन भारत के वित्त मंत्रालय में मुख्य आर्थिक सलाहकार हैं। वे सेंट स्टीफंस कॉलेज से स्नातक हैं तथा भारतीय प्रबंधन संस्थान, अहमदाबाद के छात्र रह चुके हैं। वे अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में अर्थशास्त्री तथा जी-20 पर वित्तमंत्री के विशेषज्ञ समूह के सदस्य भी रहे हैं। डॉ. अरविंद सुब्रमण्‍यम पीटरसन इंस्‍टीट्यूट फॉर इंटरनेशनल इकोनॉमिक्‍स में डेनिस वेदरस्‍टोन सीनियर फेलो और वैश्विक विकास केन्द्र में सीनियर फेलो हैं। सुब्रमण्‍यम अंतरराष्‍ट्रीय मुद्रा कोष के शोध विभाग (1992-2013) में एवं उरुग्‍वे दौर की व्‍यापार वातार्ओं के दौरान गैट (1988-1992) में कार्यरत रहे थे। 

अर्थशास्त्री अरविंद सुब्रमण्यम 16 अक्टूबर, 2014 को भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के मुख्य आर्थिक सलाकार बनाए गए थे। उनकी यह नियुक्ति तीन साल की थी। इस नाते उनका कार्यकाल 15 अक्टूबर, 2017 तक पूरा हो चुका था लेकिन केंद्र सरकार ने उन्हें एक साल का कार्यकाल विस्तार दे दिया, यानी उनका 15 अक्टूबर, 2018 तक पद पर रहना पक्का हो गया।

इस कार्यकाल विस्तार से पहले ऐसी खबरें आई थीं कि सुब्रमण्यम कार्यकाल विस्तार नहीं बल्कि अपना तीन साल का कार्यकाल पूरा करके वापस अमेरिका जाना चाहते हैं, जहां उनका परिवार रहता है। अरविंद सुब्रमण्यम वाशिंगटन के पीटरसन इंस्टीट्यूट फॉर इंटरनेशनल इकॉनोमिक्स में सीनियर फेलो हैं और अभी वहां से छुट्टी पर हैं। पिछले साल उनका कार्यकाल पूरा होने से पहले यह कयास लगाया जा रहा था कि सुब्रमण्यम वापस अपने संस्थान में लौटना चाहते हैं।

भारत सरकार का पद छोड़कर वापस अकादमिक क्षेत्र में सुब्रमण्यम के लौट जाने की बातें इसलिए भी चल रही है क्योंकि कुछ समय पहले नीति आयोग के उपाध्यक्ष अरविंद पनगढिय़ा ने भी इसी आधार पर यह पद छोड़कर वापस अकादमिक क्षेत्र में लौटने का निर्णय लिया था। विपक्ष के कुछ नेता और सरकार से ही जुड़े लोग अनौपचारिक तौर तो यह भी कह रहे थे कि मौजूदा सरकार का राजनीतिक नेतृत्व अर्थशास्त्रियों की सुन नहीं रहा, इसलिए पहले पनगढिय़ा गए और अब अरविंद सुब्रमण्यम जाना चाह रहे हैं।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


अंतर-राष्ट्रीय खिलाडी सचिन रत्ती और उनके भाई गगन रत्ती ने कोच जयदीप कोहली के खिलाफ दी पुलिस कंप्लेंट 

सोशल मीडिया पर परिवार को बदनाम करने का लगाया आरोप, अगर मुझे और मेरी पत...

सामने आया नीता अंबानी का 33 साल पुराना Bridal Look, आप भी देखें तस्वीरें

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): 12 दिंसबर को देश के मशहूर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अ...

top