Wednesday, December 12,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

दंपत्ति को पासपोर्ट देने से मना करने वाले अधिकारी का तबादला

Publish Date: June 21 2018 03:31:30pm

लखनऊ (उत्तम हिन्दू न्यूज): नियमों का हवाला देकर अलग-अलग धर्मों से ताल्लुक रखने वाले एक दंपत्ति को पासपोर्ट जारी करने से मना करने वाले लखनऊ पासपोर्ट कार्यालय के एक अधिकारी का विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के हस्तक्षेप के बाद गुरूवार को तबादला कर दिया गया और उसे कारण बताअो नोटिस भी जारी की गयी है। दरअसल, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हिन्दू और मुस्लिम धर्म से ताल्लुक रखने वाले एक विवाहित जोड़े ने पासपोर्ट के लिये आवेदन किया था मगर पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्रा ने विवाह पर संदेह जताते हुये उनका आवेदन खारिज कर दिया। पीड़ित दंपत्ति ने अधिकारी की शिकायत विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से की थी जिनके हस्तक्षेप के बाद दंपत्ति को कथित रूप से अपमानित करने वाले पासपोर्ट अधिकारी का ट्रांसफर कर दिया गया है और उन्हें कारण बताओ नोटिस भी जारी कर दिया गया। 

पीडित दंपत्ति अनस सिद्दीकी और तानवी सेठ की मौजूदगी में क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी पियूष वर्मा ने गुरूवार को पत्रकारों से कहा कि इस मामले में उन्होंने रिपोर्ट विदेश मंत्रालय को भेज दी है। वर्मा ने कहा “हम दंपत्ति को हुयी परेशानी के लिये खेद व्यक्त करते हैं और हमारी कोशिश रहेगी कि इस घटना की पुनरावृत्ति न हो। दंपत्ति को नया पासपोर्ट जारी कर दिया गया है।” मौके पर मौजूद दंपत्ति ने संतोष व्यक्त करते हुये कहा “हम केंद्र सरकार की त्वरित कार्रवाई से बेहद खुश हैं। हमारी शिकायत पर 12 घंटे से भी कम समय में एक्शन हो गया और आज हमको सिर्फ एक घंटे के अंतराल पर पासपोर्ट सौंप दिया गया। यह काफी अच्छी बात है कि हमारी बात को सुना गया। लोगों को अपनी आपत्ति दर्ज जरूर करानी चाहिए। हमारी शिकायत पर विदेश मंत्रालय तथा प्रधानमंत्री कार्यालय तत्काल हरकत में आ गया। काफी अच्छी बात है।”

लखनऊ की एक युवती के मुस्लिम युवक के साथ प्रेम विवाह के बाद भी अपना नाम न बदलने पर बुधवार को उनका पासपोर्ट नहीं बन सका था। पीड़ित दंपत्ति का आरोप था कि उनकी अर्जी इसलिए खारिज कर दी गयी कि दोनों अलग-अलग धर्म के हैं। क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी ने नियम का हवाला दिया तो लड़की ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्वीट कर दिया। महिला ने एक ट्वीट प्रधानमंत्री कार्यालय को भी किया था। दोनों जगह से क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय को तत्काल कार्रवाई करने का निर्देश मिला। इसके बाद आज दंपत्ति को दिन में 11 बजे बुलाया गया और आधे घंटे के भीतर उन्हेे पासपोर्ट सौंप दिया गया। स्वराज के हस्तक्षेप के बाद पासपोर्ट कार्यालय ने तत्काल कार्रवाई करते हुये पासपोर्ट सेवा केंद्र में तैनात सीनियर सुपरिटेंडेंट विकास मिश्र का गोरखपुर तबादला कर दिया। उधर, विकास मिश्रा ने कहा “मैंने कोई गलत काम नहीं किया। नियम के अनुसार फाइल अधिकारी को भेजी थी।”
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


मीरपुर वनडे : होप के नाबाद शतक से विंडीज ने की बराबरी

मीरपुर (उत्तम हिन्दू न्यूज): शाई होप (नाबाद 146) के करियर की ...

कियारा आडवाणी 'कलंक' में विशेष उपस्थिति को लेकर उत्साहित

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभिनेत्री कियारा आडवाणी अभिषेक वर्मन की ऐतिहासिक फिल्म 'कल...

top