Tuesday, December 18,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

आरोप मुक्ति के लिए कर्नल पुरोहित ने दाखिल की याचिका

Publish Date: June 22 2018 01:48:16pm

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : मालेगांव बम ब्लास्ट के आरोपी लेफ्टिनेट कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित ने शुक्रवार को अपनी मुक्ति का एक आवेदन बॉम्बे हाईकोर्ट में दाखिल किया। कर्नल पुरोहित की याचिका को आज बॉम्बे हाईकोर्ट ने स्वीकार कर लिया। इससे पहले इसी प्रकार की एक याचिका को कोर्ट ने खारिज कर दिया था। कोर्ट ने इस मामले के लिए 16 जुलाई का डेट दिया है। उस दिन मामले की अंतिम सुनवाई होनी है। 

आपको बता दें कि मालेगांव ब्लास्ट मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि आरोपी श्रीकांत पुरोहित आरोप तय होने की दशा में गैरकानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम (यूएपीए) के तहत महाराष्ट्र सरकार की ओर से उन पर मुकदमा चलाने की परमिशन को चुनौती दे सकते हैं। यानी ट्रॉयल के पहले इस मामले की कोर्ट सुनवाई करेगा। जमानत देते समय सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि ट्रायल के दौरान गैरकानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम (यूएपीए) के तहत महाराष्ट्र सरकार द्वारा उन पर मुकदमा चलाने की अनुमति पर सुनवाई होगी।

पिछली सुनवाई में  कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने एनआईए और महाराष्ट्र सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था। कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर अपने ऊपर लगे यूएपीए को चुनौती दी थी। इससे पहले बॉम्बे हाईकोर्ट ने मामले में लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित और समीर कुलकर्णी की याचिका को खारिज कर दिया था। आरोपियों ने गैरकानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम (यूएपीए) के तहत महाराष्ट्र सरकार द्वारा उन पर मुकदमा चलाने की परमिशन को चुनौती दी थी। कर्नल पुरोहित और अन्य की याचिका में कहा गया था कि यूएपीए के तहत मुकदमा चलाने की परमिशन देने वाले राज्य के ज्यूडिशियल डिपार्टमेंट को ट्रिब्यूनल से रिपोर्ट लेनी होती है।

आज कर्नल पुरोहित ने एक बार फिर महाराष्ट्र सराकर के खिलाफ आवेदन देकर यह कहा है कि उनके उपर लगे सारे आरोप बेबुनियाद हैं। उन्होंने यह भी कहा है कि उनके उपर जो आरोप लगाए गए हैं वे किसी न किसी रूप से पूर्वाग्रह से ग्रस्त है। इसलिए उनके उपर लगे आरोप को हटाया जाए। इस अपील की अनुमति विगत दिनों सर्वोच्च न्यायालय ने उन्हें दी थी। आज उसी के आलोक में उन्होंने महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ अपील की। अदालत के द्वारा अपना निर्वहन आवेदन स्वीकार करने के बाद बॉम्बे हाईकोर्ट के बाहर लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित प्रसन्न मुद्रा में दिखे। पुरोहित 2008 में हुए मालेगांव विस्फोट के आरोपियों में से एक हैं। इस मामले की अगली और अंतिम सुनवाई 16 जुलाई मुकर्रर की गयी है।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


बेस प्राइज एक करोड़ में ही बिके युवराज सिंह, पहली बार मुंबई के लिए खेलेंगे 

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : एक समय में अपनी शानदार बल्ले...

दिलीप कुमार को धमकाने वाला बिल्डर जेल से छूटा, सायरा बानो ने पीएम मोदी से फिर मांगी मदद

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : अपने जमाने के मशहूर एक्टर दिलीप ...

top