Monday, December 10,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

PM मोदी ने की मन की बात, GST को बताया देश की सबसे बड़ी उपलब्धि

Publish Date: June 24 2018 12:01:11pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज)- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 'मन की बात' के जरिये देशवासियों के साथ अपने विचार साझा किए। यह पीएम मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम का 45वां संस्करण है। मन की बात' में पीएम मोदी ने टीम इंडिया के खेल भावना की तारीफ की।

मोदी ने कहा, 'बेंगलुरु में हुए भारत-अफगानिस्तान टेस्ट मैच अफगानी स्टार बॉलर राशिद खान का खेल बहुत अच्छा रहा। यह मैच यादगार रहेगा। मुझे यह मैच इसलिए याद रहेगा, क्योंकि भारतीय टीम ने ट्रॉफी लेते समय अफगानिस्तान की टीम को आमंत्रित किया और दोनों टीमों ने साथ में फोटो लिए।'

पीएम मोदी ने जीएसटी की पहली सालगिरह आने से पहले इसकी सफलता का क्रेडिट राज्यों को दिया। उन्होंने कहा कि 'वन नेशन वन टैक्स' देश के लोगों का सपना था, जो अब हकीकत में बदल चुका है। पीएम ने कहा कि जीएसटी की सफलता के लिए राज्यों ने मिलकर काम किया और इसे सफल बनाया। उन्होंने जीएसटी ईमानदारी की जीत करार दिया।

पीएम मोदी ने कहा कि एक जुलाई को डॉक्टर्स डे मनाया जाता है। मां हमें जन्म देती है, तो कई बार डॉक्टर हमें पुनर्जन्म देता है। इसलिए हमें डॉक्टर का सम्मान करना चाहिए। मोदी ने कहा, "भारत का एक समृद्ध इतिहास रहा है। ऐसा कोई महीना नहीं है, जिसमें कोई-न-कोई ऐतिहासिक घटना न घटी हो। भारत में हर जगह की अपनी एक विरासत है। वहां से जुड़ा कोई संत है, कोई महापुरुष है, कोई प्रसिद्ध व्यक्ति है, सभी का अपना-अपना योगदान है, अपना महात्म्य है।

मोदी ने कहा इस 21 जून को चौथे ‘योग दिवस’ पर विश्वभर में लोगों ने पूरे उत्साह और उमंग के साथ योगाभ्यास किया। सऊदी अरब में पहली बार योग का ऐतिहासिक कार्यक्रम हुआ और बहुत सारे आसनों का प्रदर्शन तो महिलाओं ने किया। योग सभी सीमाओं को तोड़कर, जोड़ने का काम करता है। मोदी ने कहा कि देश गौरवान्ति हुआ है, जब जल-थल और नभ सैनिकों ने योग का अभ्यास किया। सैनिकों ने पनडुब्बी में योग किया, सियाचीन के बर्फीले पहाड़ों पर योग किया।

संत कबीरदास का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा,'सभी जानते हैं कि कबीरदास मगहर क्यों गए थे? उस समय धारणा थी कि मगहर में जिसकी मृत्यु होती है, वह स्वर्ग नहीं जाता। कबीर इस पर विश्वास नहीं करते थे। उन्होंने अपने समय की ऐसी ही कुरीतियां और अंधविश्वासों को तोड़ने का काम किया। इसलिए उन्होंने मगहर में समाधि ली।' मोदी ने कहा,"संत कबीरदास जी ने अपनी साखियों और दोहों के माध्यम से सामाजिक समानता, शांति और भाईचारे पर बल दिया। उनकी रचनाओं में हमें यही आदर्श देखने को मिलते हैं और आज के युग में भी वे उतने ही प्रेरक हैं।

अमृतसर के जलियांवाला बाग हत्याकांड का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, '2019 में जलियांवाला बाग की उस भयावह घटना के 100 साल पूरे हो रहे हैं, जिसने पूरी मानवता को शर्मसार किया था। 13 अप्रैल, 1919 का वो काला दिन कौन भूल सकता है, जब शक्ति का दुरुपयोग करते हुए क्रूरता की सारी हदें पार कर निर्दोष और मासूम लोगों पर गोलियां चलाई गयी थी।"

बीजेपी के संस्थापक सदस्यों में एक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा,"उनमें जो सबसे महत्वपूर्ण बात थी, वो थी भारत की अखंडता और एकता। हम हमेशा डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के एकता के संदेश को याद रखें, सद्भाव और भाईचारे की भावना के साथ, भारत की प्रगति के लिए जी-जान से जुटे रहें।"

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


एडिलेड टेस्ट : एडिलेड में 15 साल बाद जीत के करीब पहुंचा भारत

एडिलेड (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय गेंदबाजों रविचंद्रन अश्वि...

'गोपी बहू' गिरफ्तार, हीरा व्यापारी की हत्या में शामिल होने का आरोप 

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : एक हीरा व्यापारी की हत्‍या के सि...

top