Wednesday, December 12,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

महबूबा ने तोड़ी चुप्पी, कहा-आपत्ति थी तो तीन साल तक क्यों नहीं बोली बीजेपी

Publish Date: June 24 2018 05:20:16pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : जम्मू-कश्मीर में गठबंधन टुटने के बाद पहली बार पीडीपी नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि जब गठबंधन पर बीजेपी नेताओं को आपत्ति थी तो तीन साल तक क्यों चुप रहे। आपको बता दें कि विगत दिनों भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) द्वारा समर्थन वापस लेने के बाद जम्मू-कश्मीर में भाजपा और पीडीपी गठबंधन से चल रही सरकार गिर गयी थी साथ ही दोनों पार्टियों का तीन साल का गठबंधन भी खत्म हो गया। अब दोनों पार्टियां आपस में एक दूसरे पर आरोप लगा रही है। मसलन अभी तक भाजपा ही आक्रामक दिख रही थी लेकिन आज महबूबा ने भी भाजपा पर हमला बोला और कहा कि उन्हें पहले बताना चाहिए था। 

दरअसल, महबूबा ने रविवार को भाजपा पर करारा प्रहार करते हुए एक ट्वीट किया। ट्वीट में उन्होंने भाजपा और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर हमले किए हैं। उन्होंने अपने ट्वीट के जरिए उस सभी सवालों के जवाब दिए हैं जिसको लेकर भाजपा लगातार पीडीपी पर हमला कर रही थी। महबूबा मुफ्ती ने भाजपा के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि हमने गठबंधन के हिसाब से सरकार चलाई। भाजपा के साथ 370 पर स्थति और पत्थरबाजों के खिलाफ केस वापस करने की बात पहले से तय थी।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि भाजपा-पीडीपी गठबंधन के एजेंडे में आर्टिकल 370, पाकिस्तान और हुर्रियत के साथ बातचीत को आगे बढ़ाने, पत्थरबाजों के खिलाफ चल रहे केसों को वापस लेने और सीजफायर को लागू करने पर पहले ही सब तय हो गया था। महबूबा ने भाजपा के आरोपों को गलत बताते हुए कहा कि काफी समय से जम्मू-कश्मीर में आशांति है और साल 2014 में आई बाढ़ ने हालात और बिगाड़ दिए, इसलिए घाटी पर खास ध्यान देने की जरूरत है लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि बाकी इलाकों को नकारा गया।

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि किसी भी राज्य में सरकार गिरने से ही तो राजनीतिक दल अफसोस करते हैं लेकिन अकेली भाजपा ऐसी पार्टी हैं, जो कश्मीर में सरकार गिरने पर खुशी मना रही है। उन्होंने लिखा कि कश्मीर के नतीजे सभी के सामने हैं। यदि कुछ भी है तो भाजपा को अपने मंत्रियों के प्रदर्शन की समीक्षा करनी चाहिए। भाजपा ने काफी हद तक प्रतिनिधित्व किया। महबूबा ने सवाल उठाया कि अगर वो गठबंधन से खुश नहीं थे तो पिछले 3 सालों के क्यों चुप रहे। इसके बारे में कोई भी राज्य या केंद्रीय स्तर की बात क्यों नहीं की।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


पीवी सिंधू की धमाकेदार शुरुआत, पूर्व चैंपियन यामागुची को दी मात

गुआंगझू (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत की स्टार महिला शटलर पीवी स...

Kapil Sharma Wedding: बारात लेकर कपिल शर्मा पहुंचे क्लब कबाना

जालंधर (उत्तम हिन्दू न्यूज): कॉमेडियन कपिल शर्मा गिन्नी संग विवाह रचाने के लिए बारात के सा...

top