Monday, December 10,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

Union Cabinet Meeting : निर्यातकों के लिए तीन हजार करोड़ रुपये का निवेश करेगी सरकार

Publish Date: June 27 2018 05:31:44pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्रीय मंत्रिमंडल ने आज ओडिशा और चंदूर के चंडीखोल में अतिरिक्त 6.5 एमएमटी सामरिक पेट्रोलियम रिजर्व की स्थापना का रास्ता साफ करते हुए एक प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। यही नहीं आज के मंत्रिमंडल ने भोपाल मेमोरियल अस्पताल और अनुसंधान केंद्र, में काम कर रहे जनरल ड्यूटी मेडिकल ऑफिसर, विशेषज्ञ ग्रेड डॉक्टरों और शिक्षण चिकित्सा संकाय के अधिकारी एवं कर्मचारियों की आयु सीमा बढ़ाकर 65 साल कर दी। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने उस प्रस्ताव को भी मंजूर कर दिया जिसमें नागरिक उड्डयन के क्षेत्र में भारत-जर्मनी के बीच कई समझौतों पर काम होना है। शहरी क्षेत्र के विकास के लिए केंद्रीय मंत्रिमंडल ने शहरी नियोजन और विकास के मामले में सिंगापुर के साथ समझौता करने का निर्णय लिया है। 

आज के मंत्रिमंडल की बैठक में लिए गए निर्णय की जानकारी देते हुए केन्द्रीय वित्तमंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि सरकार ने निर्यातकों की मदद के लिए दो महत्वपूर्ण निर्णय लिये हैं, जिसमें एक्‍सपोर्ट क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन लिमिटेड (ईसीजीसी) में दो हजार करोड़ रुपये के पूंजी निवेश और राष्‍ट्रीय निर्यात बीमा खाता ट्रस्‍ट (एनईआईए) के लिए 1,040 करोड़ रुपये के ग्रांट-इन-एड (निधि) की मंजूरी शामिल है। 

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति की आज हुयी बैठक में ये निर्णय लिये गये। वित्तमंत्री पीयूष गोयल ने बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि ईसीजीसी को मजबूती देने के लिए 2,000 करोड़ रुपये के पूंजी निवेश को मंजूरी दी गयी है। यह पूंजी निवेश तीन वित्‍त वर्षों के दौरान किया जाएगा। वित्‍त वर्ष 2017-18 में 50 करोड़ रूपये, वित्‍त वर्ष 2018-19 में 1,450 करोड़ रुपये और वित्‍त वर्ष 2019-20 में 500 करोड़ रुपये का पूंजी निवेश किया जाएगा। 

मंत्रिमंडल में किए गए निर्णय के बारे में गोयल ने कहा कि अधिक पूंजी निवेश से ईसीजीसी को अपने उत्‍पाद पोर्टफोलियो में विविधता लाने और निर्यातकों को सस्‍ते बीमा मुहैया कराने में मदद मिलेगी, ताकि वे चुनौतीपूर्ण बाजारों में भी अपने पांव जमाने में समर्थ होंगे। ईसीजीसी के बीमा कवर से भारतीय निर्यातकों को अंतर्राष्‍ट्रीय बाजारों में प्रतिस्‍पर्धात्‍मक स्थिति सुधारने में भी मदद मिलेगी। ईसीजीसी बीमा कवर से लाभान्वित होने वाले 85 फीसदी से अधिक ग्राहक एमएसएमई हैं। ईसीजीसी विश्‍व के करीब दो सौ देशों के लिए निर्यात बीमा मुहैया कराती है।

ईसीजीसी भारत से निर्यात को बढ़ावा देने के लिए निर्यात ऋण बीमा सेवा मुहैया कराने वाली सरकार की प्रमुख निर्यात ऋण एजेंसी है। ईसीजीसी निर्यातकों को ऋण बीमा योजनाओं की पेशकश करती है, ताकि उन्‍हें राजनैतिक अथवा वाणिज्यिक जोखिम के कारण विदेशी खरीददारों द्वारा निर्यात बकाये का भुगतान न होने के कारण हुए घाटे से सुरक्षा प्रदान की जा सके। गोयल ने कहा कि एनईआईए के लिए 1,040 करोड़ रुपये के ग्रांट-इन-एड (निधि) को मंजूरी दी है।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


ऋषभ पंत ने रचा इतिहास, ये कारनामा करने वाले पहले विदेशी विकेटकीपर बने 

एडिलेड (उत्तम हिन्दू न्यूज): एडिलेड ओवल मैदान पर जहां एक ओर भ...

'मर्दानी 2' में नजर आएंगी रानी मुखर्जी

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभिनेत्री रानी मुखर्जी फिल्म '...

top