Monday, December 17,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

इंजीनियरों के बुरे दिन, 58 प्रतिशत छात्रों को नहीं मिली नौकरी

Publish Date: July 14 2018 06:48:44pm

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : इस वर्ष पासआउट इंजीनियरिंग के 58 प्रतिशत छात्रों को नौकरी नहीं मिली। हालांकि एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि रोजगार की गति बढ़ी है और कैंपस सलेक्सन का प्रतिशत 40 से बढ़कर 42 हो गया है बावजूद इसके इंजीनियरिंग के छात्रों की स्थति बेहद बुरी है। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद के आंकड़ों के अनुसार 2016-17 के दौरान 38.39 और 2013-14 के दौरन 31.95 प्रतिशत बच्चों को नौकरी मिली थी। 

इसकी एक वजह इंजीनियरिंग कॉलेजों का बंद होना और निचले पदों पर नामांकन होना है। 2017-18 और 2013-14 की तुलना में 9444,000 की बजाए 750,000 ही नामांकन हुए हैं। 2014-15 के दौरान इंजीनियरिंग के इंस्टीट्यूट में 2014-15 के दौरान 3,400 की कमी आई है। वर्तमान में भारत के 3,225 शीर्ष तकनीकी शिक्षा नियामक (एआईसीटीई) बच्चों को अंडरग्रैजुएट कोर्स ऑफर कर रहे हैं।

खराब नामांकन दर की वजह से बहुत से राज्यों ने एआईसीटीई से कहा था कि वह इंजीनियरिंग कॉलेजों में और सीटें ना बढ़ाए। इन राज्यों में हरियाणा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, महाराष्ट्र और राजस्थान शामिल हैं। इन राज्यों ने एआईसीटीई के पास याचिका दायर की थी जिसके बाद मानव संसाधन विकास मंत्रालय को सूचित किया कि नए तकनीकी संस्थान ना बनाए जाएं। सरकार द्वारा इंटनज़्शिप को अनिवार्य बनाने की वजह से रोजगार की संख्या में इजाफा हुआ है। जिन लोगों को कंपनियों में सफलतापूर्वक इंटर्नशिप मिल जाती है उन्हें आराम से नौकरी भी मिल जाती है।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


Aus vs Ind: विराट कोहली ने रचा इतिहास, 25वां टेस्ट शतक जड़ तेंदुलकर को पीछे छोड़ा

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय कप्तान विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 25 शतक बना...

#MeToo की चिंगारी भड़काने वाली तनुश्री लौटेंगी अमेरिका, अपने बारे में किया बड़ा खुलासा 

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : भारत में मीटू की चिंगारी भड़काने...

top