Thursday, December 13,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

रिस्पना नदी किनारे हर धर्म के लोगों ने पौधे लगाये

Publish Date: July 22 2018 06:48:25pm

देहरादून(उत्तम हिन्दू न्यूज)- उत्तराखंड के देहरादून में रिस्पना (ऋषिपर्ण) नदी के पुनरूद्धार की मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की महत्वाकांक्षी योजना ‘रिस्पना टू ऋषिपर्णा’ अभियान में सभी धर्म, आयु वर्ग के लोगों और सरकारी अधिकारियों ने नदी के किनारे पौधारोपण किया।

दो लाख 50 हजार पौधों का एक ही दिन में रोपण करने के दावे वाले इस अभियान की शुरुआत केहरी गांव से श्री रावत और परमार्थ निकेतन के परम अध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने संयुक्त रूप से की। इसके बाद दोनों ने मोथरोवाला में भी पौधारोपण किया। मोथरोवाला में रिस्पना के किनारे सर्वधर्म सद्भावना वाटिका विकसित की जा रही है। रिस्पना नदी को ऋषिपर्णा के स्वरूप में पुनर्जीवित करने के अभियान की सफलता के लिए मुख्यमंत्री ने सभी से मिल रहे सहयोग पर आभार जताया। 

उन्होंने कहा कि बरसात में भी बच्चे, युवा, महिलाएं, बुजुर्ग सभी लोग जिस उत्साह से भाग ले रहे हैं उससे पूरा विश्वास है कि हम नदियों के पुनर्जीवन में अवश्य सफलता प्राप्त करेंगे। उन्होंने ब्रिटेन की थेम्स नदी का जिक्र करते हुए कहा कि ब्रिटेन के लोग एक भगीरथ प्रयास से टेम्स जैसी नदी को साफ कर सकते हैं, तो क्या उत्तराखंड के लोग व्यापक जन अभियान से रिस्पना की सूरत नहीं बदल सकते? मुझे पूरा विश्वास है, आपके सहयोग, आपकी ऊर्जा और इस पुण्य भावना के साथ हम रिस्पना और कोसी का उत्थान करके ब्रिटेन के लोगों की तरह दुनिया के लिए एक आदर्श उदाहरण बनेंगे। लेकिन हमें बस यहीं पर नहीं रुकना है, हमने आज जो पौधे मिलकर लगाए हैं, उनके संरक्षण का जिम्मा भी हमें खुद उठाना होगा। 

उन्होंने कहा कि पौधे लगने से रिस्पना के जलप्रवाह में सुधार होगा। आगे के चरणों में हमें रिस्पना के तट पर साफ सफाई का कार्यक्रम भी चलाना है। लेकिन हमें इस नेक जन आंदोलन की भावना को जीवित रखना है। एक नदी के पुनर्जीवित होने से उसके साथ-साथ एक सभ्यता जीवित होगी, एक संस्कृति का पुनरुद्धार होगा, एक विरासत को भी नया जीवन मिलेगा। मुख्यमंत्री ने देहरादून के जिलाधिकारी एवं अन्य प्रशासनिक अधिकारियों की भी सराहना की। इस अवसर पर स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने कहा कि नदियों के द्वारा ही किसी भी राष्ट्र में प्राणों का संचार होता है। नदियों में जीवन, संस्कृति, सभ्यता और धरोहर समाहित है इन्हें जीवंत और प्राणवान करना नितांत आवश्यक है। उन्होने कहा कि वृक्षों को जीवन देना भावी पीढ़ी को जीवन देने के समान है। 

जिलाधिकारी एसए मुरूगेशन ने बताया कि मिशन रिस्पना टू ऋषिपर्णा अभियान के तहत रविवार 22 जुलाई को केरवान गांव तथा उसके आसपास 39 ब्लॉक में खड़ीक, अमलतास, कनजी, कंजू, शीशम, कचनार, बांस, बेलपत्र, संदन, आंवला, हरड़, बहेड़ा, तेजपात, महल, टिकोमा, पिलन इत्यादि 18 से अधिक विभिन्न प्रजातियां के वृक्षों का रोपण किया गया। इससे पूर्व जनपद में नामित विभिन्न नोडल अधिकारियों के माध्यम से राजकीय उद्यान सर्किट हाउस नर्सरी से कटहल, आम, अमरूद, संतरा, कागजी नींबू, लीची, किन्नू, बारहमासी इत्यादि फलदार पौधों को जनपद में स्थित विभिन्न सरकारी और गैर सरकारी विद्यालयों के बच्चों को वितरित किया गया। इस अभियान में नगर निगम, वन, इको टास्क फोर्स, सिविल डिफेंस, सेना, आईटीबीपी के साथ ही लोक निर्माण विभाग, सिंचाई, जल संस्थान, सूचना विभाग, जिला आपूर्ति, पंचायती राज, ग्रामीण विकास, पेयजल, इत्यादि सहित जनपद के सभी विभागों ने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। विभिन्न केंद्रीय संस्थानों, राज्य में स्थित संस्थान, गैर सरकारी व सरकारी विद्यालयों के साथ ही विभिन्न गैर सरकारी संगठन, मीडिया इत्यादि की भी उल्लेखनीय भूमिका रही। 

इस अवसर पर मुख्य सचिव, मुख्य वन संरक्षक जयराम, अन्य वनाधिकार, नमामि गंगे के महानिदेशक राजीव रंजन मिश्रा हितेश मकवाना, डाॅ. प्रवीन कुमार टेक्नीकल निदेशक, नमामि गंगे के उत्तराखंड के निदेशक राघव लंगर, विभिन्न धर्मो के धर्मगुरूओं, अनुयायियों, सिख, मुस्लिम धर्म के लोगाें और जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों ने इस ऐतिहासिक कार्य में सहभागिता की।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


पीवी सिंधू की धमाकेदार शुरुआत, पूर्व चैंपियन यामागुची को दी मात

गुआंगझू (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत की स्टार महिला शटलर पीवी स...

Kapil Sharma Wedding: बारात लेकर कपिल शर्मा पहुंचे क्लब कबाना

जालंधर (उत्तम हिन्दू न्यूज): कॉमेडियन कपिल शर्मा गिन्नी संग विवाह रचाने के लिए बारात के सा...

top