Tuesday, December 11,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

भारत में सबसे अधिक असुरक्षित हैं महिलाएं: ठाकरे

Publish Date: July 23 2018 05:38:58pm

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): शिव सेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा है कि भारत में गाय की अपेक्षा महिलाएं अधिक असुरक्षित हैं। संसद में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान में हिस्सा न लेने वाली शिवसेना की नाराजगी एक बार फिर सामने आई है और पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अब मॉब लिंचिंग और गोरक्षा जैसे मुद्दों पर भी भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है। साथ ही हिंदुत्व को लेकर भी सवाल उठाए हैं। शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में छपे साक्षात्कार में उद्धव ठाकरे ने कहा कि भाजपा और शिव सेना पिछले 25 वर्षोंं से हिंंदुत्व के मुद्दे पर एक साथ थे लेकिन बालासाहब ठाकरे जिस हिंदुत्व की बात करते थे वह शिवाजी महाराज का हिंदुत्व था। बाल ठाकरे से कई बार उनके हिंदुत्व के संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा था, “राष्ट्रीयता हमारा हिंदुत्व है।” उद्धव ठाकरे ने कहा कि लेकिन पिछले तीन साल से देश में जो हिंदुत्व का उन्माद चढ़ा है, वह सही नहीं है।

इसके अलावा उन्होंने हिंदुत्व और गाय के नाम पर मॉब लिंचिंग को भी गलत ठहराया। ठाकरे ने कहा, “गाय माता की रक्षा करना ठीक है लेकिन अपनी माँ की सुरक्षा, महिलाओं सुरक्षा के बारे में देश सबसे असुरक्षित बनता जा रहा है, गोमाता की रक्षा तो करो लेकिन माता की रक्षा का क्या हो रहा है?’’ उद्धव ठाकरे ने आरोप लगाया कि महिलाओं की रक्षा छोड़कर कौन क्या मांस खा रहा है, इसकी जांच करने में सरकार लगी हुई है। उन्होंने साफ कहा कि इसे हिंदुत्व नहीं कहा जा सकता। पिछले सप्ताह लोकसभा में भाजपा के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के संबंध में ठाकरे ने कहा,‘अविश्वास प्रस्ताव’ सत्ता पक्ष द्वारा जनता को धोखा देने का नतीजा था। उन्होंने कहा कि सामान्य तौर पर विपक्षी दल अविश्वास प्रस्ताव लाते हैं लेकिन यहां तो सत्ता पक्ष के सहयोगी रहे दल ने ही अविश्वास प्रस्ताव रख दिया।

सदन में शिव सेना के सांसदों की अनुपस्थिति के बारे में उन्होंने कहा, “हमारे कंधों पर बंदूक रख कर कोई गोली नहीं चला सकता’ और शिव सेना भी किसी और के कंधे पर बंदूक रख कर गोली नहीं चला सकती।” उन्होंने कहा, “ हमें खुशी है जिन मुद्दों को पिछले चार वर्ष से हम उठा रहे थे,उन्हीं मुद्दों को अब सभी राजनीतिक दल उठा रहे हैं। गरीबों को बुरी तरह परेशान करने वाले विमुद्रीकरण का सबसे पहले शिव सेना ने विरोध किया था। इसके इलावा जीएसटी और जमीन अधिग्रहण तथा पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों का भी विरोध शिव सेना ने किया था।”

सामना दैनिक पत्र के संपादक और सांसद संजय राउत ने वर्ष 2019 में होने वाले लोक सभा चुनाव के संबंध में पूछा कि हवा किस दिशा में बह रही है, इस पर श्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि अचानक अनुमान लगान उचित नहीं होगा लेकिन यह एक चक्रवाती तूफान की शक्ल ले रहा है और इसके गुजरने के बाद ही उसके प्रभाव और नुकसान का पता चल सकता है। महाराष्ट्र में जो हवा चल रही है, वह पूरे भारत को दिशा देगी। उन्होंने दावे के साथ कहा कि जनता की निगाहें शिव सेना पर टिकी हुयी हैं। उद्धव ठाकरे ने शिवसेना के दिवंगत नेता बाल ठाकरे के स्मारक के निर्माण में हो रही देरी और छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा की ऊंचाई को घटाने के मामले में सरकार की आलोचना की।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


आईसीसी टेस्ट रैंकिंग : विराट कोहली शीर्ष पर बरकरार, पुजारा चौथे नंबर पर

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): आस्ट्रेलियाई जमीन पर अपनी अगु...

यूपी में 'केदारनाथ' के खिलाफ मामला दर्ज

लखनऊ (उत्तम हिन्दू न्यूज): उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में बॉ...

top