Monday, December 10,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

कपिल हत्याकाण्ड में छह आरोपियों को उम्रकैद, एक को 5 साल की सजा

Publish Date: July 24 2018 05:03:52pm

रतलाम (उत्तम हिन्दू न्यूज): मध्यप्रदेश के रतलाम जिला मुख्यालय के बहुचर्चित कपिल हत्याकाण्ड के छह आरोपियों को आज जिला न्यायालय में उम्रकैद की सजा सुनाई गई। षड्यंत्र में शामिल एक अभियुक्त को पांच वर्ष की सजा दी गई है, जबकि एक अभियुक्त को साक्ष्य के अभाव में दोषमुक्त कर दिया गया। जिला न्यायालय के चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश तरुण सिंह ने प्रकरण के अभियुक्त हैदर शैरानी, रिजवान शैरानी, मुसैफ उर्फ कप्तान शैरानी, नासिर उर्फ निसार अली, जाहिद मोहम्मद और याहया खां शैरानी को कपिल राठौड़ और उसके कर्मचारी पुखराज की हत्या के लिए आजीवन कारावास और दस-दस हजार रुपए अर्थदण्ड की सजा दी।

इसके साथ ही कपिल के छोटे भाई विक्रम पर जानलेवा हमला करने के मामले में दस-दस वर्ष के कठोर कारावास की सजा सुनाई। प्रकरण के एक अभियुक्त मूसा खान को पांच वर्ष के कठोर कारावास और पांच हजार रुपए अर्थदण्ड की सजा सुनाई गई। एक अन्य अभियुक्त सैफूल्लाह को पर्याप्त साक्ष्य के अभाव में दोषमुक्त किया गया है। करीब चार वर्ष पूर्व 27 सितम्बर 2014 को अज्ञात आरोपियों ने नगर निगम में तत्कालीन नेता प्रतिपक्ष कांग्रेस नेत्री यास्मीन शैरानी पर फायर किए थे। इस घटना के बाद शहर में तनाव व्याप्त हो गया था और शहर बन्द हो गया था। इसी दौरान आरोपियों ने रोडवेज बस स्टैण्ड पर पहुंचकर बजरंग दल के कार्यकर्ता कपिल राठौड़ की दुकान पर हमला कर दिया था। 

इस वारदात में आरोपियों ने कपिल पर रिवॉल्वर से कई फायर किए थे। दुकान पर काम करने वाले एक युवक पुखराज के गले पर छुरे से वार किए गए थे। कपिल के छोटे भाई विक्रम पर भी गोलियां दागी गई थी। इस घटना में कपिल और पुखराज की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी, जबकि कपिल का भाई विक्रम गंभीर रूप से घायल हो गया था।  इस हत्याकाण्ड के बाद पूरे शहर में कफ्र्यू लगा दिया गया था। पूरे एक महीने तक शहर में कफ्र्यू लगा रहा और आम लोगों का जीवन अस्त व्यस्त हो गया था।पुलिस ने कपिल और पुखराज की हत्या के प्रकरण में कुल नौ आरोपियों को नामजद किया था। इनमें से आठ आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं, जबकि एक आरोपी मुतल्लिफ अब तक फरार है। इस सनसनीखेज हत्याकाण्ड में आज आने वाले निर्णय को लेकर सुबह से न्यायालय में गहमा गहमी का वातावरण बना हुआ था। प्रकरण की संवेदनशीलता को देखते हुए न्यायालय परिसर में भारी पुलिस बल तैनात करते हुए परिसर को पूरी तरह सील कर दिया गया था। न्यायालय परिसर में प्रवेश करने वाले प्रत्येक व्यक्ति की मैटल डिटेक्टर से जांच की जा रही थी।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


ऋषभ पंत ने रचा इतिहास, ये कारनामा करने वाले पहले विदेशी विकेटकीपर बने 

एडिलेड (उत्तम हिन्दू न्यूज): एडिलेड ओवल मैदान पर जहां एक ओर भ...

'मर्दानी 2' में नजर आएंगी रानी मुखर्जी

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभिनेत्री रानी मुखर्जी फिल्म '...

top