Tuesday, December 11,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

बड़ा खुलासा : उत्तर प्रदेश में 52 लाख मतदाताओं के नाम सूची से गायब

Publish Date: August 04 2018 10:59:43am

लखनऊ (उत्तम हिन्दू न्यूज) : उत्तर प्रदेश में  52 लाख लोगों के नाम मतदाता सूची से गायब हैं। खुद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का आरोप है कि लोकतंत्र के महापर्व में बड़ी संख्या में लोगों को मतदान से रोकने के लिए साजिश रच कर प्रदेशभर में 52 लाख और पश्चिम क्षेत्र में 18 लाख मतदाताओं के नामों को सूची से हटा दिया गया है। ऐसे में ये संख्या किसी भी सीट पर चुनाव परिणाम को प्रभावित कर सकती है। भाजपा इन सभी मतदाताओं के नाम सूची में शामिल कराने के लिए अपनी एक बड़ी टीम उतार दी है। शीर्ष नेतृत्व भी इसको लेकर लगातार बैठक कर रहा है। भजपा ने इसके लिए 16 अगस्त से 25 अगस्त तक प्रदेशभर में विशेष अभियान चलाने का भी ऐलान किया है। 

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बंसल समेत तमाम नेता लगातार पार्टी संगठन की बैठकों में यह आरोप लगा रहे हैं। बैठक में जिलेवार मतदाता सूची से बाहर हो चुके लोगों का आंकड़ा रखा जा रहा है। नेताओं का आरोप है कि 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के परिणाम को प्रभावित करने के लिए बड़ी संख्या में मतदाताओं के नाम सूची से हटाए गए हैं। ये नाम फिर से जुड़वाने के लिए पूरे संगठन को जुटना होगा। 

इसके लिए बूथ कमेटी को सबसे अधिक काम करना है और एक-एक बूथ पर यह सुनिश्चित करना है कि 18 साल की उम्र पूरी कर चुका कोई भी व्यक्ति ऐसा ना रहे जिसन नाम वोटर लिस्ट में ना हो। इसके लिए 16 अगस्त से 25 अगस्त तक हर बूथ पर विशेष अभियान चलेगा। सभी मतदाताओं के नाम सूची से मिलाए जाएंगे। जिनके नाम सूची में शामिल नहीं होंगे, उनके नाम जुड़वाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इस अभियान के लिए भाजपा का पूरा अमला बूथवार रिकाडज़् तैयार करने में जुटा है। भाजपा के इस खुलासे से सियासी माहौल भी गरमाया हुआ है।

भाजपा के द्वारा जारी सूचि में बताया गया है कि मेरठ 27,361, सहारनपुर 64,672, मुजफ्फरनगर 49000, गाजियाबाद 2,23,416, बागपत 23,589, बुलंदशहर 23,224, नोएडा 4300, मुरादाबाद 23000, रामपुर 115000 मतदाताओं के नाम काट दिए गए हैं। भाजपा के पश्चिम क्षेत्र के अध्यक्ष अश्वनी त्यागी ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में 18 साल की उम्र पूरी कर चुके हर व्यक्ति को वोट देने का अधिकार है लेकिन पूर्व की सरकारों में शामिल नेताओं और अधिकारियों की मिलीभगत के कारण एक बड़ी साजिश के तहत बड़ी संख्या में लोगों के नाम मतदाता सूची से हटा दिए गए हैं। 

त्यागी ने बताया कि पूरे प्रदेश में इनकी संख्या करीब 52 लाख और पश्चिम क्षेत्र में करीब 18 लाख है। इन सभी नामों को फिर से सूची में शामिल कराने के लिए भाजपा अभियान चला रही है। हमारी सभी मतदाताओं से भी अपील है कि वह सूची में अपना नाम देख लें और यदि उनका नाम सूची में नहीं है तो समय रहते उसे जुड़वा लें, जिससे वह लोकतंत्र के महापर्व में अपनी आहुति देने से वंचित ना रह जाएं।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


आईसीसी टेस्ट रैंकिंग : विराट कोहली शीर्ष पर बरकरार, पुजारा चौथे नंबर पर

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): आस्ट्रेलियाई जमीन पर अपनी अगु...

यूपी में 'केदारनाथ' के खिलाफ मामला दर्ज

लखनऊ (उत्तम हिन्दू न्यूज): उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में बॉ...

top