Monday, December 10,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

सैनिकों की स्मृति एवं उनके आश्रितों को सम्मान देना प्रत्येक देशवासी का धर्म: नाईक

Publish Date: August 09 2018 05:54:49pm

कौशाम्बी (उत्तम हिन्दू न्यूज): उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि देश सेवा के लिए समर्पित सेना के जवान एवं शहीद सैनिकों की स्मृति एवं उनके आश्रितों को सम्मान दिया जाना प्रत्येक देशवासी का धर्म है। नाईक जिले के सिराथू तहसील क्षेत्र में सहजादपुर गांव में गुरुवार को अगस्त क्रांति दिवस के अवसर पर क्रांतिकारी वीरांगना दुर्गा भाभी की स्मृति में आयोजित सम्मान एवं शहीद स्मारक के लोकार्पण समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि कारगिल युद्ध के समय में वे देश के पेट्रोलियम मंत्री थे। कारगिल युद्ध में 539 सैनिक शहीद हुए थे। 

राज्यपाल ने कहा, “मैंने तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी जी से बात किया कि कारगिल युद्ध के शहीदों के आश्रितों को पेंशन के अलावा गैस एजेंसी यह पेट्रोल पंप का लाइसेंस दे दिया जाए। अटल जी हमारी बात से सहमत हो गए।” उन्होंने कहा कि सेना के जवान सीमा की सुरक्षा करते हैं और हमेशा देश की रक्षा के लिए तत्पर रहते हैं इसीलिए सेना के जवानों एवं शहीद शहीदों के परिजनों की देखरेख की जिम्मेदारी हम सबकी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि शब्दों का महत्व होता है। जिसे काकोरी कांड कहा जाता है। इस शब्द से बदबू आती है। शहीदों के सम्मान में इसे काकोरी अभियान कहना चाहिए।
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


ऋषभ पंत ने रचा इतिहास, ये कारनामा करने वाले पहले विदेशी विकेटकीपर बने 

एडिलेड (उत्तम हिन्दू न्यूज): एडिलेड ओवल मैदान पर जहां एक ओर भ...

'मर्दानी 2' में नजर आएंगी रानी मुखर्जी

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभिनेत्री रानी मुखर्जी फिल्म '...

top