Saturday, December 15,2018     ई पेपर
ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय

TVS मोटर्स के चेयरमैन श्रीनिवासन पर मूर्ति चोरी का आरोप, बचाव में उतरे कई नेता

Publish Date: August 13 2018 09:53:30am

चेन्नई (उत्तम हिन्दू न्यूज) : मूर्ति चोरी के एक मामले में टीवीएस मोटर कंपनी के चेयरमैन वेणु श्रीनिवासन के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इस मामले को लेकर श्रीनिवासन को राजनीतिक संरक्षण भी मिलना प्रारंभ हो गया है। मसलन केंद्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णनन और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता मुत्तरासन ने बयान देकर श्रीनिवासन का बचाव किया है। केंद्रीय राज्यमंत्री पोन राधाकृष्णनन ने कहा कि आम जनता की धारणा है कि श्रीनिवासन ने मंदिर की बेहतरी और गरीबों की आजीविका पर अपने पैसे खर्च किए हैं। उन्होंने कहा कि अनेक भक्त चकित हैं कि श्रीनिवासन जैसे व्यक्ति पर आरोप लगाने का मतलब मंदिर की मूर्ति चोरी मामले में असली मुजरिम को मदद करना या जांच को गुमराह करना है। 

उन्होंने इस बात की जांच करवाने की मांग की कि किसके इशारे पर एफआईआर में श्रीनिवासन का नाम दर्ज किया गया है। मुतरासन ने कहा कि यह हैरान करने वाली बात है कि टीवीएस मोटर के प्रमुख को मंदिर की मूर्ति चोरी के मामले में आरोपी ठहराया जा रहा है। इससे पहले एमडीएमके के संस्थापक वाइको ने श्रीनिवासन का नाम एफआईआर से हटाने की मांग की थी। 

इससे पहले तमिलनाडु पुलिस की प्रतिमा शाखा ने 10 अगस्‍त को मद्रास उच्च न्यायालय में हलफनामा दिया कि मूर्ति चोरी के मामले में वह टीवीएस मोटर्स के चेयरमैन वेणु श्रीनिवासन को छह सप्ताह के लिए गिरफ्तार नहीं करेगी। मामला मूर्ति चोरी के मुकदमे की सुनवाई के लिए गठित न्यायमूर्ति आर महादेवन और न्यायमूर्ति पी डी ऑडिकेसवुलु की खंड पीठ के समक्ष आया। हलफनामे पर संज्ञान लेने के बाद पीठ ने मामले की सुनवाई छह सप्ताह के लिए स्थगित कर दी। मूर्ति चोरी मामले में अग्रिम जमानत के लिए श्रीनिवासन ने अदालत में अर्जी दी थी। अपनी अर्जी में श्रीनिवासन ने कहा है कि उनके खिलाफ दर्ज प्राथमिकी की गंभीरता को देखते हुए वह जमानत की अर्जी दे रहे हैं।

श्रीनिवासन पर आरोप है कि उन्होंने श्रीकपालिश्वर मंदिर में रखी मोर की प्राचीन मूर्ति को हटाकर उसकी जगह दूसरी नई मूर्ति लगाई है। इस संबंध में एक श्रद्धालु रंगराजन नरसिम्हन ने प्राथमिकी दर्ज कराई है। इस मामले में श्रीनिवासन ने खुद को बेकसूर बताया है। उन्होंने कहा कि वो इस मामले में निर्दोष हैं। मद्रास हाई कोर्ट में दी अपनी याचिका में उन्होंने बताया कि 2004 से अब तक उन्होंने अपने निजी फंड से श्रीकपालिश्वर मंदिर में करीब 70 लाख रुपये खर्च किए हैं। उन्होंने बताया कि उन्हें सरकार द्वारा गठित टेंपल रिनोवेशन कमेटी का सदस्य बनाया गया था। उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ माइलपुर पुलिस ने एक एफआईआर दर्ज की है और इसे जांच के लिए सीबी-सीआईडी को ट्रांसफर कर दिया गया है। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए www.fb.com/uttamhindu/ आैर www.twitter.com/DailyUttamHindu पर क्लिक करें आैर पेज को लाइक करें।


पर्थ टेस्ट : दूसरे दिन का खेल खत्म, भारत का स्कोर- 173/3

पर्थ (उत्तम हिन्दू न्यूज) : भारत ने यहां पर्थ स्टेडियम में आस...

Isha weds Anand: मेहमानों की खातिरदारी करते दिखे अमिताभ, आमिर और शाहरूख, देखें तस्वीरें

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): देश के मशहूर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी ने हाल ...

top